Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Apr 2024 · 1 min read

हुस्न और खूबसूरती से भरे हुए बाजार मिलेंगे

हुस्न और खूबसूरती से भरे हुए बाजार मिलेंगे
लेकिन तुमको हम जैसे जिंदगी मे एक बार मिलेंगे
कल मुझको सालो बाद देखकर खूब रोया वो
जो जाते वक़्त कह रहा था वो जा तेरे जैसे हजार मिलेंगे

44 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मन के भाव हमारे यदि ये...
मन के भाव हमारे यदि ये...
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
जो भी आते हैं वो बस तोड़ के चल देते हैं
जो भी आते हैं वो बस तोड़ के चल देते हैं
अंसार एटवी
"खुशी मत मना"
Dr. Kishan tandon kranti
2478.पूर्णिका
2478.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
जुड़वा भाई ( शिक्षाप्रद कहानी )
जुड़वा भाई ( शिक्षाप्रद कहानी )
AMRESH KUMAR VERMA
देर हो जाती है अकसर
देर हो जाती है अकसर
Surinder blackpen
■ प्रभात वंदन....
■ प्रभात वंदन....
*Author प्रणय प्रभात*
ये न पूछ के क़ीमत कितनी है
ये न पूछ के क़ीमत कितनी है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
ek abodh balak
ek abodh balak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कैदी
कैदी
Tarkeshwari 'sudhi'
🍃🌾🌾
🍃🌾🌾
Manoj Kushwaha PS
*मेला (बाल कविता)*
*मेला (बाल कविता)*
Ravi Prakash
आफ़ताब
आफ़ताब
Atul "Krishn"
তার চেয়ে বেশি
তার চেয়ে বেশি
Otteri Selvakumar
प्रेम गजब है
प्रेम गजब है
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
❤बिना मतलब के जो बात करते है
❤बिना मतलब के जो बात करते है
Satyaveer vaishnav
प्यार भी खार हो तो प्यार की जरूरत क्या है।
प्यार भी खार हो तो प्यार की जरूरत क्या है।
सत्य कुमार प्रेमी
रफ़्ता -रफ़्ता पलटिए पन्ने तार्रुफ़ के,
रफ़्ता -रफ़्ता पलटिए पन्ने तार्रुफ़ के,
ओसमणी साहू 'ओश'
मन में मदिरा पाप की,
मन में मदिरा पाप की,
sushil sarna
कलियुग की संतानें
कलियुग की संतानें
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
सफर में महोब्बत
सफर में महोब्बत
Anil chobisa
हर एक मन्जर पे नजर रखते है..
हर एक मन्जर पे नजर रखते है..
कवि दीपक बवेजा
क्रिकेट का पिच,
क्रिकेट का पिच,
Punam Pande
एक आज़ाद परिंदा
एक आज़ाद परिंदा
Shekhar Chandra Mitra
छत्तीसगढ़िया संस्कृति के चिन्हारी- हरेली तिहार
छत्तीसगढ़िया संस्कृति के चिन्हारी- हरेली तिहार
Mukesh Kumar Sonkar
फ़ासले
फ़ासले
Dr fauzia Naseem shad
*संवेदना*
*संवेदना*
Dr Shweta sood
मार गई मंहगाई कैसे होगी पढ़ाई🙏🙏
मार गई मंहगाई कैसे होगी पढ़ाई🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
लड़की किसी को काबिल बना गई तो किसी को कालिख लगा गई।
लड़की किसी को काबिल बना गई तो किसी को कालिख लगा गई।
Rj Anand Prajapati
हमे अब कहा फिक्र जमाने की है
हमे अब कहा फिक्र जमाने की है
पूर्वार्थ
Loading...