Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2017 · 1 min read

* हुश्न की बारीकियां *

यूं राज-ए-हुस्न कब तक छुपाओगे मुझसे
हुस्न की बारीकियां बेहतर जानते तुझसे
कत्ल ना कर खंजन सी आँखों के ख़ंजर से
दीवाना मरता है भला कोई बेहतर मुझसे ।।
?मधुप बैरागी

Language: Hindi
210 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from भूरचन्द जयपाल
View all
You may also like:
*Loving Beyond Religion*
*Loving Beyond Religion*
Poonam Matia
आजादी की कहानी
आजादी की कहानी
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
भय, भाग्य और भरोसा (राहुल सांकृत्यायन के संग) / MUSAFIR BAITHA
भय, भाग्य और भरोसा (राहुल सांकृत्यायन के संग) / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
हिंदी भाषा हमारी आन बान शान...
हिंदी भाषा हमारी आन बान शान...
Harminder Kaur
कलरव करते भोर में,
कलरव करते भोर में,
sushil sarna
मौत
मौत
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
गर्मी ने दिल खोलकर,मचा रखा आतंक
गर्मी ने दिल खोलकर,मचा रखा आतंक
Dr Archana Gupta
Pata to sabhi batate h , rasto ka,
Pata to sabhi batate h , rasto ka,
Sakshi Tripathi
प्यार का नाम मेरे दिल से मिटाया तूने।
प्यार का नाम मेरे दिल से मिटाया तूने।
Phool gufran
भरी महफिल
भरी महफिल
Vandna thakur
দারিদ্রতা ,রঙ্গভেদ ,
দারিদ্রতা ,রঙ্গভেদ ,
DrLakshman Jha Parimal
मैं सोचता हूँ कि आखिर कौन हूँ मैं
मैं सोचता हूँ कि आखिर कौन हूँ मैं
VINOD CHAUHAN
दलितों, वंचितों की मुक्ति का आह्वान करती हैं अजय यतीश की कविताएँ/ आनंद प्रवीण
दलितों, वंचितों की मुक्ति का आह्वान करती हैं अजय यतीश की कविताएँ/ आनंद प्रवीण
आनंद प्रवीण
2670.*पूर्णिका*
2670.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
खोखला अहं
खोखला अहं
Madhavi Srivastava
रिश्ते चाहे जो भी हो।
रिश्ते चाहे जो भी हो।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
सम्मान
सम्मान
Paras Nath Jha
वक़्त के साथ
वक़्त के साथ
Dr fauzia Naseem shad
"ताले चाबी सा रखो,
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
5
5"गांव की बुढ़िया मां"
राकेश चौरसिया
*रानी ऋतुओं की हुई, वर्षा की पहचान (कुंडलिया)*
*रानी ऋतुओं की हुई, वर्षा की पहचान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
-आजकल मोहब्बत में गिरावट क्यों है ?-
-आजकल मोहब्बत में गिरावट क्यों है ?-
bharat gehlot
घणो लागे मनैं प्यारो, सखी यो सासरो मारो
घणो लागे मनैं प्यारो, सखी यो सासरो मारो
gurudeenverma198
কি?
কি?
Otteri Selvakumar
ला-फ़ानी
ला-फ़ानी
Shyam Sundar Subramanian
#सन्देश...
#सन्देश...
*Author प्रणय प्रभात*
#drarunkumarshastei
#drarunkumarshastei
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मतदान करो
मतदान करो
TARAN VERMA
यादें....!!!!!
यादें....!!!!!
Jyoti Khari
'आप ' से ज़ब तुम, तड़ाक,  तूँ  है
'आप ' से ज़ब तुम, तड़ाक, तूँ है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
Loading...