Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2016 · 1 min read

हाइकू (वर्षा सुन्दरी )

झनन -झन
झनकाती घुघरूँ
पहन के वो

पाजेब भारी
ठुमकती आ रही
वर्षा सुन्दरी

मधु स्मित सी
भर के मधु मुस्काँ
लजाती खड़ी

हरी -भरी हो
धरा प्यास बुझाती
मन रिझाती

मेघा घिरे है
घरर घरर के
बादलों बीच

हुलसाते है
तर-बतर तन
मन ठन्डाते

~~डॉ मधु त्रिवेदी ~~

Language: Hindi
70 Likes · 609 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR.MDHU TRIVEDI
View all
You may also like:
*पूरी करके देह सब, जाते हैं परलोक【कुंडलिया】*
*पूरी करके देह सब, जाते हैं परलोक【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
वो कभी दूर तो कभी पास थी
वो कभी दूर तो कभी पास थी
'अशांत' शेखर
नहीं टूटे कभी जो मुश्किलों से
नहीं टूटे कभी जो मुश्किलों से
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*अजब है उसकी माया*
*अजब है उसकी माया*
Poonam Matia
🌸 सभ्य समाज🌸
🌸 सभ्य समाज🌸
पूर्वार्थ
झूठा घमंड
झूठा घमंड
Shekhar Chandra Mitra
ग़ज़ल
ग़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस
Satish Srijan
वर्तमान गठबंधन राजनीति के समीकरण - एक मंथन
वर्तमान गठबंधन राजनीति के समीकरण - एक मंथन
Shyam Sundar Subramanian
पहली दस्तक
पहली दस्तक
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
हर हाल में खुश रहने का सलीका तो सीखो ,  प्यार की बौछार से उज
हर हाल में खुश रहने का सलीका तो सीखो , प्यार की बौछार से उज
DrLakshman Jha Parimal
स्वार्थ से परे !!
स्वार्थ से परे !!
Seema gupta,Alwar
जीवन को अतीत से समझना चाहिए , लेकिन भविष्य को जीना चाहिए ❤️
जीवन को अतीत से समझना चाहिए , लेकिन भविष्य को जीना चाहिए ❤️
Rohit yadav
दोस्ती की कीमत - कहानी
दोस्ती की कीमत - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
संघर्षी वृक्ष
संघर्षी वृक्ष
Vikram soni
समरथ को नही दोष गोसाई
समरथ को नही दोष गोसाई
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
चल पड़ते हैं कभी रुके हुए कारवाँ, उम्मीदों का साथ पाकर, अश्क़ बरस जाते हैं खामोशी से, बारिशों में जैसे घुलकर।
चल पड़ते हैं कभी रुके हुए कारवाँ, उम्मीदों का साथ पाकर, अश्क़ बरस जाते हैं खामोशी से, बारिशों में जैसे घुलकर।
Manisha Manjari
दिवाली
दिवाली
नूरफातिमा खातून नूरी
मैं तो महज क़ायनात हूँ
मैं तो महज क़ायनात हूँ
VINOD CHAUHAN
नादान प्रेम
नादान प्रेम
Anil "Aadarsh"
सच तो रोशनी का आना हैं
सच तो रोशनी का आना हैं
Neeraj Agarwal
हाय हाय रे कमीशन
हाय हाय रे कमीशन
gurudeenverma198
2327.पूर्णिका
2327.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
तेरी चाहत हमारी फितरत
तेरी चाहत हमारी फितरत
Dr. Man Mohan Krishna
💐अज्ञात के प्रति-68💐
💐अज्ञात के प्रति-68💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मोबाइल
मोबाइल
लक्ष्मी सिंह
झरना का संघर्ष
झरना का संघर्ष
Buddha Prakash
सच्चाई ~
सच्चाई ~
दिनेश एल० "जैहिंद"
Ranjeet Shukla
Ranjeet Shukla
Ranjeet kumar Shukla
Loading...