Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2016 · 1 min read

हाइकू (वर्षा सुन्दरी )

झनन -झन
झनकाती घुघरूँ
पहन के वो

पाजेब भारी
ठुमकती आ रही
वर्षा सुन्दरी

मधु स्मित सी
भर के मधु मुस्काँ
लजाती खड़ी

हरी -भरी हो
धरा प्यास बुझाती
मन रिझाती

मेघा घिरे है
घरर घरर के
बादलों बीच

हुलसाते है
तर-बतर तन
मन ठन्डाते

~~डॉ मधु त्रिवेदी ~~

Language: Hindi
Tag: हाइकु
70 Likes · 456 Views
You may also like:
नवगीत
Sushila Joshi
पितृपक्ष_विशेष
संजीव शुक्ल 'सचिन'
देश और देशभक्ति
विजय कुमार अग्रवाल
ज़िन्दा रहना है तो जीवन के लिए लड़
Shivkumar Bilagrami
बुढापा
सूर्यकांत द्विवेदी
हल्लाबोल
Shekhar Chandra Mitra
💐💐प्रेम की राह पर-73💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सियासी चालें गहरी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ऐसा क्या है तुझमें
gurudeenverma198
बद्दुआ गरीबों की।
Taj Mohammad
“ अच्छा लगे तो स्वीकार करो ,बुरा लगे तो नज़र...
DrLakshman Jha Parimal
*"तिरंगा झंडा"*
Shashi kala vyas
तीरगी से निबाह करते रहे
Anis Shah
*प्रिय तुमसे ही पाया है (गीत)*
Ravi Prakash
खत्म हुआ मतदान अब
विनोद सिल्ला
हमको मालूम है
Dr fauzia Naseem shad
आईना किसी को बुरा नहीं बताता है
कवि दीपक बवेजा
जीवन-दाता
Prabhudayal Raniwal
घोर अंधेरा ................
Kavita Chouhan
कोरोना काल
AADYA PRODUCTION
ए ! सावन के महीने क्यो मचाता है शोर
Ram Krishan Rastogi
स्लोगन
RAJA KUMAR 'CHOURASIA'
💐🙏एक इच्छा पूरी करना भगवन🙏💐
Suraj kushwaha
✍️पत्थर✍️
'अशांत' शेखर
रात है यह काली
जगदीश लववंशी
लिपस्टिक की दुहाई
Kaur Surinder
"आम की महिमा"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
आओ हम याद करे
Anamika Singh
■ अभिमत.....
*Author प्रणय प्रभात*
स्वर्ग नरक का फेर
Dr Meenu Poonia
Loading...