Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jul 2023 · 1 min read

हां मैं पागल हूं दोस्तों

जो देखती है वही दिखाती है
ये आंखें मेरी झूठ बताती नहीं
कौनसा सच कहना है कौनसा नहीं
ये होशियारी मुझको आती नहीं

हां मैं पागल हूं दोस्तों
थोड़ा अनाड़ी हूं खिलाड़ी नहीं

ईमानदारी से निभाता हूं रिश्ते
किसी से दगाबाजी करता नहीं
रात को रात और दिन को दिन कहता हूं
कभी किसी से मैं डरता नहीं

हां मैं पागल हूं दोस्तों
थोड़ा अनाड़ी हूं खिलाड़ी नहीं

दरिया हूँ अपना रास्ता ख़ुद बनाता हूँ
कभी हवा के संग मैं बहता नहीं
जैसा हूँ वैसा ही रहता हूँ
गिरगिट की तरह रंग बदलता नहीं

हां मैं पागल हूं दोस्तों
थोड़ा अनाड़ी हूं खिलाड़ी नहीं

किसी ने जो भी कहा सच मान लेता हूँ
अपने दोस्तों पर अविश्वास करता नहीं
दोस्ती करता हूँ तो निभाता हूँ हमेशा
दगा अपने दोस्तों से मैं कभी करता नहीं

हां मैं पागल हूं दोस्तों
थोड़ा अनाड़ी हूं खिलाड़ी नहीं

देखकर दुख दर्द में किसी को
मुझसे तो रहा जाता नहीं
कोशिश करता हूँ मिटाने की उनको
मुझसे चुप रहा जाता नहीं

हां मैं पागल हूं दोस्तों
थोड़ा अनाड़ी हूं खिलाड़ी नहीं

देखता हूँ सपने जो कभी मैं
उन्हें भी अपना मान लेता हूँ
जो आता है ज़िंदगी में मेरी
उसे मैं कभी भुलाता नहीं

हां मैं पागल हूं दोस्तों
थोड़ा अनाड़ी हूं खिलाड़ी नहीं।

8 Likes · 4 Comments · 1220 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
View all
You may also like:
■चन्दाखोरी कांड■
■चन्दाखोरी कांड■
*Author प्रणय प्रभात*
अब भी कहता हूँ
अब भी कहता हूँ
Dr. Kishan tandon kranti
खुशनसीबी
खुशनसीबी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
खेल और भावना
खेल और भावना
Mahender Singh
आकाश भर उजाला,मुट्ठी भरे सितारे
आकाश भर उजाला,मुट्ठी भरे सितारे
Shweta Soni
सफ़ारी सूट
सफ़ारी सूट
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जब आपका ध्यान अपने लक्ष्य से हट जाता है,तब नहीं चाहते हुए भी
जब आपका ध्यान अपने लक्ष्य से हट जाता है,तब नहीं चाहते हुए भी
Paras Nath Jha
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
बेफिक्री की उम्र बचपन
बेफिक्री की उम्र बचपन
Dr Parveen Thakur
ਮੁਕ ਜਾਣੇ ਨੇ ਇਹ ਸਾਹ
ਮੁਕ ਜਾਣੇ ਨੇ ਇਹ ਸਾਹ
Surinder blackpen
22, *इन्सान बदल रहा*
22, *इन्सान बदल रहा*
Dr Shweta sood
*यदि उसे नजरों से गिराया नहीं होता*
*यदि उसे नजरों से गिराया नहीं होता*
sudhir kumar
ना बातें करो,ना मुलाकातें करो,
ना बातें करो,ना मुलाकातें करो,
Dr. Man Mohan Krishna
अरुणोदय
अरुणोदय
Manju Singh
नास्तिकों और पाखंडियों के बीच का प्रहसन तो ठीक है,
नास्तिकों और पाखंडियों के बीच का प्रहसन तो ठीक है,
शेखर सिंह
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
चलती है जिन्दगी
चलती है जिन्दगी
डॉ. शिव लहरी
गंणपति
गंणपति
Anil chobisa
रोज आते कन्हैया_ मेरे ख्वाब मैं
रोज आते कन्हैया_ मेरे ख्वाब मैं
कृष्णकांत गुर्जर
जिसनै खोया होगा
जिसनै खोया होगा
MSW Sunil SainiCENA
बड़े होते बच्चे
बड़े होते बच्चे
Manu Vashistha
द्रोपदी फिर.....
द्रोपदी फिर.....
Kavita Chouhan
खुद पर यकीन,
खुद पर यकीन,
manjula chauhan
हमेशा समय के साथ चलें,
हमेशा समय के साथ चलें,
नेताम आर सी
कबूतर
कबूतर
Vedha Singh
2905.*पूर्णिका*
2905.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पहला सुख निरोगी काया
पहला सुख निरोगी काया
जगदीश लववंशी
*Keep Going*
*Keep Going*
Poonam Matia
संसद उद्घाटन
संसद उद्घाटन
Sanjay ' शून्य'
अंदाज़े बयाँ
अंदाज़े बयाँ
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Loading...