Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Nov 2023 · 1 min read

हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।

हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।
हर दर्द मौहब्बत की पहचान नहीं होती ।
थम जाएं गर इश्क़ इक पल के लिए अब ।
हर नफ़्ज ज़माने में भी बिरान नहीं होती।।

phool gufran

134 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"कष्ट"
नेताम आर सी
"मनुष्यता से.."
Dr. Kishan tandon kranti
जुनून
जुनून
DR ARUN KUMAR SHASTRI
यादों का सफ़र...
यादों का सफ़र...
Santosh Soni
गणतंत्र दिवस
गणतंत्र दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रखिए गीला तौलिया, मुखमंडल के पास (कुंडलिया)
रखिए गीला तौलिया, मुखमंडल के पास (कुंडलिया)
Ravi Prakash
जिन्दगी से भला इतना क्यूँ खौफ़ खाते हैं
जिन्दगी से भला इतना क्यूँ खौफ़ खाते हैं
Shweta Soni
अपनी मंजिल की तलाश में ,
अपनी मंजिल की तलाश में ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
#शुभ_प्रतिपदा
#शुभ_प्रतिपदा
*Author प्रणय प्रभात*
जो मुस्किल में छोड़ जाए वो यार कैसा
जो मुस्किल में छोड़ जाए वो यार कैसा
Kumar lalit
क्यों मानव मानव को डसता
क्यों मानव मानव को डसता
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
मैं
मैं "लूनी" नही जो "रवि" का ताप न सह पाऊं
ruby kumari
यही पाँच हैं वावेल (Vowel) प्यारे
यही पाँच हैं वावेल (Vowel) प्यारे
Jatashankar Prajapati
जल से सीखें
जल से सीखें
Saraswati Bajpai
एक एहसास
एक एहसास
Dr fauzia Naseem shad
मैं आग नही फिर भी चिंगारी का आगाज हूं,
मैं आग नही फिर भी चिंगारी का आगाज हूं,
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
विश्व पुस्तक मेला, दिल्ली 2023
विश्व पुस्तक मेला, दिल्ली 2023
Shashi Dhar Kumar
जिसको भी चाहा तुमने साथी बनाना
जिसको भी चाहा तुमने साथी बनाना
gurudeenverma198
" लोग "
Chunnu Lal Gupta
बितियाँ मेरी सब बात सुण लेना।
बितियाँ मेरी सब बात सुण लेना।
Anil chobisa
भारत और इंडिया तुलनात्मक सृजन
भारत और इंडिया तुलनात्मक सृजन
लक्ष्मी सिंह
* सुन्दर फूल *
* सुन्दर फूल *
surenderpal vaidya
हाथ में खल्ली डस्टर
हाथ में खल्ली डस्टर
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
विश्वास का धागा
विश्वास का धागा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हमें याद है ९ बजे रात के बाद एस .टी .डी. बूथ का मंजर ! लम्बी
हमें याद है ९ बजे रात के बाद एस .टी .डी. बूथ का मंजर ! लम्बी
DrLakshman Jha Parimal
सुरमाई अंखियाँ नशा बढ़ाए
सुरमाई अंखियाँ नशा बढ़ाए
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
The Third Pillar
The Third Pillar
Rakmish Sultanpuri
"" *अहसास तेरा* ""
सुनीलानंद महंत
रंगीला बचपन
रंगीला बचपन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
एक पुरुष जब एक महिला को ही सब कुछ समझ लेता है या तो वह बेहद
एक पुरुष जब एक महिला को ही सब कुछ समझ लेता है या तो वह बेहद
Rj Anand Prajapati
Loading...