Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Feb 2024 · 1 min read

हर किसी का एक मुकाम होता है,

हर किसी का एक मुकाम होता है,
वही उसका जिने का अंदाज होता है,
हट कर होते है औरो से तभी जीवन में ,
जिनका अंदाज बिकुल बिंदास होता है।

3 Likes · 57 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Buddha Prakash
View all
You may also like:
स्त्री चेतन
स्त्री चेतन
Astuti Kumari
अगर प्यार  की राह  पर हम चलेंगे
अगर प्यार की राह पर हम चलेंगे
Dr Archana Gupta
रुख़सारों की सुर्खियाँ,
रुख़सारों की सुर्खियाँ,
sushil sarna
इश्क अमीरों का!
इश्क अमीरों का!
Sanjay ' शून्य'
मातृ भाषा हिन्दी
मातृ भाषा हिन्दी
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
दूरियों में नजर आयी थी दुनियां बड़ी हसीन..
दूरियों में नजर आयी थी दुनियां बड़ी हसीन..
'अशांत' शेखर
अभिनंदन डॉक्टर (कुंडलिया)
अभिनंदन डॉक्टर (कुंडलिया)
Ravi Prakash
अधिकार और पशुवत विचार
अधिकार और पशुवत विचार
ओंकार मिश्र
अगर, आप सही है
अगर, आप सही है
Bhupendra Rawat
2396.पूर्णिका
2396.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"सैनिक की चिट्ठी"
Ekta chitrangini
" है वही सुरमा इस जग में ।
Shubham Pandey (S P)
लाख बड़ा हो वजूद दुनियां की नजर में
लाख बड़ा हो वजूद दुनियां की नजर में
शेखर सिंह
ऋतु सुषमा बसंत
ऋतु सुषमा बसंत
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नरभक्षी_गिद्ध
नरभक्षी_गिद्ध
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
देश का वामपंथ
देश का वामपंथ
विजय कुमार अग्रवाल
#गजल
#गजल
*Author प्रणय प्रभात*
जय जय दुर्गा माता
जय जय दुर्गा माता
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
तुम्हारी बेवफाई देखकर अच्छा लगा
तुम्हारी बेवफाई देखकर अच्छा लगा
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
चाहता है जो
चाहता है जो
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
* उपहार *
* उपहार *
surenderpal vaidya
मंज़र
मंज़र
अखिलेश 'अखिल'
हमको जो समझें
हमको जो समझें
Dr fauzia Naseem shad
काव्य
काव्य
साहित्य गौरव
क्रिसमस से नये साल तक धूम
क्रिसमस से नये साल तक धूम
Neeraj Agarwal
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
तुम जिसे झूठ मेरा कहते हो
तुम जिसे झूठ मेरा कहते हो
Shweta Soni
शादी होते पापड़ ई बेलल जाला
शादी होते पापड़ ई बेलल जाला
आकाश महेशपुरी
सत्य तो सीधा है, सरल है
सत्य तो सीधा है, सरल है
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
राह नहीं मंजिल नहीं बस अनजाना सफर है
राह नहीं मंजिल नहीं बस अनजाना सफर है
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
Loading...