Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 May 2024 · 1 min read

हरियर जिनगी म सजगे पियर रंग

हरियर जिनगी म सजगे पियर रंग
अब चलना हे मयारू तोरे संग

36 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
पानी की तरह प्रेम भी निशुल्क होते हुए भी
पानी की तरह प्रेम भी निशुल्क होते हुए भी
शेखर सिंह
"कदर"
Dr. Kishan tandon kranti
सेज सजायी मीत की,
सेज सजायी मीत की,
sushil sarna
बात तो सच है सौ आने कि साथ नहीं ये जाएगी
बात तो सच है सौ आने कि साथ नहीं ये जाएगी
Shweta Soni
धर्म पर हंसते ही हो या फिर धर्म का सार भी जानते हो,
धर्म पर हंसते ही हो या फिर धर्म का सार भी जानते हो,
Anamika Tiwari 'annpurna '
तुझसे लिपटी बेड़ियां
तुझसे लिपटी बेड़ियां
Sonam Puneet Dubey
उनके जख्म
उनके जख्म
'अशांत' शेखर
दोस्तों के साथ धोखेबाजी करके
दोस्तों के साथ धोखेबाजी करके
ruby kumari
समय
समय
Dr. Pradeep Kumar Sharma
वेदना ऐसी मिल गई कि मन प्रदेश में हाहाकार मच गया,
वेदना ऐसी मिल गई कि मन प्रदेश में हाहाकार मच गया,
Sukoon
*हमारा संविधान*
*हमारा संविधान*
Dushyant Kumar
■ आज का संकल्प...
■ आज का संकल्प...
*प्रणय प्रभात*
जब तक बांकी मेरे हृदय की एक भी सांस है।
जब तक बांकी मेरे हृदय की एक भी सांस है।
Rj Anand Prajapati
जिंदगी के लिए वो क़िरदार हैं हम,
जिंदगी के लिए वो क़िरदार हैं हम,
Ashish shukla
सत्य क्या है?
सत्य क्या है?
Vandna thakur
गुजर जाती है उम्र, उम्र रिश्ते बनाने में
गुजर जाती है उम्र, उम्र रिश्ते बनाने में
Ram Krishan Rastogi
आसमान पर बादल छाए हैं
आसमान पर बादल छाए हैं
Neeraj Agarwal
*जटायु (कुंडलिया)*
*जटायु (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मुझको अपनी शरण में ले लो हे मनमोहन हे गिरधारी
मुझको अपनी शरण में ले लो हे मनमोहन हे गिरधारी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
3109.*पूर्णिका*
3109.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नया सपना
नया सपना
Kanchan Khanna
समंदर चाहते है किनारा कौन बनता है,
समंदर चाहते है किनारा कौन बनता है,
Vindhya Prakash Mishra
*माॅं की चाहत*
*माॅं की चाहत*
Harminder Kaur
माना की देशकाल, परिस्थितियाँ बदलेंगी,
माना की देशकाल, परिस्थितियाँ बदलेंगी,
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
मुक्तक-
मुक्तक-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
ख़ुद्दार बन रहे हैं पर लँगड़ा रहा ज़मीर है
ख़ुद्दार बन रहे हैं पर लँगड़ा रहा ज़मीर है
पूर्वार्थ
विश्वकप-2023 टॉप स्टोरी
विश्वकप-2023 टॉप स्टोरी
World Cup-2023 Top story (विश्वकप-2023, भारत)
झुलस
झुलस
Dr.Pratibha Prakash
यादों के बादल
यादों के बादल
singh kunwar sarvendra vikram
रक्षा -बंधन
रक्षा -बंधन
Swami Ganganiya
Loading...