Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Oct 2023 · 1 min read

हम समुंदर का है तेज, वह झरनों का निर्मल स्वर है

हम समुंदर का है तेज, वह झरनों का निर्मल स्वर है,
हम एक शूल है, तो वह सहस्त्र ढाल प्रखर है,

हम दुनिया के हैं अंग, वह उसकी अनुक्रमणिका है,
हम पत्थर के हैं संग , वह कंचन की क्रीनिका है,

हम सरकार है वह शासन है, हम छंद है वह कविता है हम लव कुश है, वह सीता है, हम राजा है वह राज है, हम मस्तक है वह ताज है,
वह सरस्वती का उद्गम है, रणचंडी और नासा है,

हम एक शब्द है, तो वह पूरी भाषा है,
बस यही मां की परिभाषा है !!

✍️✍️..

Language: Hindi
228 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मंत्र :या देवी सर्वभूतेषु सृष्टि रूपेण संस्थिता।
मंत्र :या देवी सर्वभूतेषु सृष्टि रूपेण संस्थिता।
Harminder Kaur
"ये दुनिया बाजार है"
Dr. Kishan tandon kranti
अरे मुंतशिर ! तेरा वजूद तो है ,
अरे मुंतशिर ! तेरा वजूद तो है ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
बना चाँद का उड़न खटोला
बना चाँद का उड़न खटोला
Vedha Singh
अंतरात्मा की आवाज
अंतरात्मा की आवाज
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मस्ती का माहौल है,
मस्ती का माहौल है,
sushil sarna
23/114.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/114.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कहते हैं कि मृत्यु चुपचाप आती है। बेख़बर। वह चुपके से आती है
कहते हैं कि मृत्यु चुपचाप आती है। बेख़बर। वह चुपके से आती है
Dr Tabassum Jahan
कर गमलो से शोभित जिसका
कर गमलो से शोभित जिसका
प्रेमदास वसु सुरेखा
मेहनत का फल (शिक्षाप्रद कहानी)
मेहनत का फल (शिक्षाप्रद कहानी)
AMRESH KUMAR VERMA
मणिपुर की घटना ने शर्मसार कर दी सारी यादें
मणिपुर की घटना ने शर्मसार कर दी सारी यादें
Vicky Purohit
💐Prodigy Love-36💐
💐Prodigy Love-36💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – गर्भ और जन्म – 04
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – गर्भ और जन्म – 04
Kirti Aphale
तुम ही तो हो
तुम ही तो हो
Ashish Kumar
राम लला
राम लला
Satyaveer vaishnav
मैं और तुम-कविता
मैं और तुम-कविता
Shyam Pandey
परे नाम रूप आकारा, कण कण सृष्टि में विस्तारा
परे नाम रूप आकारा, कण कण सृष्टि में विस्तारा
Dr.Pratibha Prakash
~~🪆 *कोहबर* 🪆~~
~~🪆 *कोहबर* 🪆~~
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
बस यूँ ही...
बस यूँ ही...
Neelam Sharma
कोना मेरे नाम का
कोना मेरे नाम का
Dr.Priya Soni Khare
■ संडे इज द फन-डे
■ संडे इज द फन-डे
*Author प्रणय प्रभात*
कहीं साथी हमें पथ में
कहीं साथी हमें पथ में
surenderpal vaidya
*साड़ी का पल्लू धरे, चली लजाती सास (कुंडलिया)*
*साड़ी का पल्लू धरे, चली लजाती सास (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
आजकल गरीबखाने की आदतें अमीर हो गईं हैं
आजकल गरीबखाने की आदतें अमीर हो गईं हैं
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
The emotional me and my love
The emotional me and my love
Sukoon
रे ज़िन्दगी
रे ज़िन्दगी
Jitendra Chhonkar
மறுபிறவியின் உண்மை
மறுபிறவியின் உண்மை
Shyam Sundar Subramanian
जरुरी नहीं कि
जरुरी नहीं कि
Sangeeta Beniwal
सब कुछ दुनिया का दुनिया में,     जाना सबको छोड़।
सब कुछ दुनिया का दुनिया में, जाना सबको छोड़।
डॉ.सीमा अग्रवाल
आज़ाद जयंती
आज़ाद जयंती
Satish Srijan
Loading...