Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Nov 2016 · 1 min read

हम नही करते………

ज़माने के ग़मो की शिकायत हम नही करते,
किसी को आज़माने को मोहब्बत हम नही करते।
साथ चलने का वादा हम बदस्तूर निभाते हैं,
संग वो भी हो हरदम ये चाहत हम नही करते।
बारीकी से हर पहलू की तस्दीक करते हैं,
बिना जाने बिना समझे बगावत हम नही करते।
जो हैं वहू ज़माने को नज़र भी आतें हैं,
नुमाइश के लिए शराफ़त हम नही करते।
उसको मानते हैं और उसको पूजते हैं हम,
खुदा के नाम की सियासत हम नही करते ।
जो दिल में है उसे बेबाकी से बोल देते हैं,
लब्जों में ज़बरदस्ती मिलावट हम नही करते ।
खुदा से पायी ज़िन्दगी भरपूर जीते हैं,
इसे बर्बाद कर उससे अदावत हम नही करते।
यहॉ पर सबको अपनी जिन्दगी मर्ज़ी से जीनी है,
किसी के हक की खिलाफत हम नही करते।
हमे बस इतना कहना है किसी को ठेस न पहुचे,
कि खुदगर्ज़ी की सॉसों की वकालत हम नही करते ।
ज़रा कह दो खुदा का खौफ खाएं कहने से पहले,
जो कहते हैं कि कातिल पर रियायत हम नही करते।

384 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वफादारी का ईनाम
वफादारी का ईनाम
Shekhar Chandra Mitra
उड़ते हुए आँचल से दिखती हुई तेरी कमर को छुपाना चाहता हूं
उड़ते हुए आँचल से दिखती हुई तेरी कमर को छुपाना चाहता हूं
Vishal babu (vishu)
कटघरे में कौन?
कटघरे में कौन?
Dr. Kishan tandon kranti
सही नहीं है /
सही नहीं है /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सूने सूने से लगते हैं
सूने सूने से लगते हैं
Er. Sanjay Shrivastava
2432.पूर्णिका
2432.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"देख मेरा हरियाणा"
Dr Meenu Poonia
हो गये अब अजनबी, यहाँ सभी क्यों मुझसे
हो गये अब अजनबी, यहाँ सभी क्यों मुझसे
gurudeenverma198
तेरी तसवीर को आज शाम,
तेरी तसवीर को आज शाम,
Nitin
■ भय का कारोबार...
■ भय का कारोबार...
*Author प्रणय प्रभात*
भाप बना पानी सागर से
भाप बना पानी सागर से
AJAY AMITABH SUMAN
सफर पे निकल गये है उठा कर के बस्ता
सफर पे निकल गये है उठा कर के बस्ता
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
*** बचपन : एक प्यारा पल....!!! ***
*** बचपन : एक प्यारा पल....!!! ***
VEDANTA PATEL
राजनीति में शुचिता के, अटल एक पैगाम थे।
राजनीति में शुचिता के, अटल एक पैगाम थे।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हमेशा समय के साथ चलें,
हमेशा समय के साथ चलें,
नेताम आर सी
एक  चांद  खूबसूरत  है
एक चांद खूबसूरत है
shabina. Naaz
तारों का झूमर
तारों का झूमर
Dr. Seema Varma
बेटियां
बेटियां
Dr.Pratibha Prakash
किसी के दिल में चाह तो ,
किसी के दिल में चाह तो ,
Manju sagar
*बुंदेली दोहा बिषय- डेकची*
*बुंदेली दोहा बिषय- डेकची*
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मेरी शायरी
मेरी शायरी
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
*आवारा कुत्तों की समस्या 【हास्य व्यंग्य】*
*आवारा कुत्तों की समस्या 【हास्य व्यंग्य】*
Ravi Prakash
हम भी अगर बच्चे होते
हम भी अगर बच्चे होते
नूरफातिमा खातून नूरी
ना कोई हिन्दू गलत है,
ना कोई हिन्दू गलत है,
SPK Sachin Lodhi
अस्तित्व
अस्तित्व
Shyam Sundar Subramanian
सोशल मीडिया पर दूसरे के लिए लड़ने वाले एक बार ज़रूर पढ़े…
सोशल मीडिया पर दूसरे के लिए लड़ने वाले एक बार ज़रूर पढ़े…
Anand Kumar
तुम कहते हो की हर मर्द को अपनी पसंद की औरत को खोना ही पड़ता है चाहे तीनों लोक के कृष्ण ही क्यों ना हो
तुम कहते हो की हर मर्द को अपनी पसंद की औरत को खोना ही पड़ता है चाहे तीनों लोक के कृष्ण ही क्यों ना हो
Sudha Maurya
*तेरे इंतज़ार में*
*तेरे इंतज़ार में*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
वक्त से पहले
वक्त से पहले
Satish Srijan
एक शख्स
एक शख्स
Pratibha Pandey
Loading...