Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Oct 2023 · 1 min read

बेटी नहीं उपहार हैं खुशियों का संसार हैं

नहीं किसी से कम हैं बेटी, ईश्वर का उपहार हैं बेटी (1)
दया की देवी प्रेम की मूरत, लगती हैं अब इसकी सूरत l
पैदा हुई छाई खुशहाली, सुबह के सूरज जैसी लाली ll
जैसे सावन की हरियाली, और बसंत की हवा निराली l
नहीं किसी से कम हैं बेटी, ईश्वर का उपहार हैं बेटी (2)
गूंजी हैं जब से किलकारी, घर में हो रही रोज दिवारी l
नन्हें कदम पड़े धरती में, खुशियां छाई तबसे घर में ll
बेटी नहीं खिलौना हैं, हम सबका ये छौना हैं l
करे पढ़ाई जावे स्कूल, बेटी सबसे हैं अनमोल ll
बनके अफसर जब घर में आवे, गर्व से छाती चौड़ी हो जावे l
नहीं किसी से कम हैं बेटी, ईश्वर का उपहार हैं बेटी (3)
बेटी बेटा एक समान, तभी बनेगा देश महान l
बेटी एक वरदान हैं, मानव का अभिमान हैं ll
बेटी एक उपहार हैं, खुशियों का संसार हैं l
बिना हवा के जैसे धरती, बिन बेटी संसार हैं ll
नहीं किसी से कम हैं बेटी, ईश्वर का उपहार हैं बेटी (4)

2 Likes · 141 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मज़बूत होने में
मज़बूत होने में
Ranjeet kumar patre
खुद पर भी यकीं,हम पर थोड़ा एतबार रख।
खुद पर भी यकीं,हम पर थोड़ा एतबार रख।
पूर्वार्थ
3501.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3501.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
माँ में दोस्त मिल जाती है बिना ढूंढे ही
माँ में दोस्त मिल जाती है बिना ढूंढे ही
ruby kumari
नया से भी नया
नया से भी नया
Ramswaroop Dinkar
चाहत मोहब्बत और प्रेम न शब्द समझे.....
चाहत मोहब्बत और प्रेम न शब्द समझे.....
Neeraj Agarwal
मुसलसल ईमान-
मुसलसल ईमान-
Bodhisatva kastooriya
उस गुरु के प्रति ही श्रद्धानत होना चाहिए जो अंधकार से लड़ना सिखाता है
उस गुरु के प्रति ही श्रद्धानत होना चाहिए जो अंधकार से लड़ना सिखाता है
कवि रमेशराज
*चैतन्य एक आंतरिक ऊर्जा*
*चैतन्य एक आंतरिक ऊर्जा*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
संवेदना -जीवन का क्रम
संवेदना -जीवन का क्रम
Rekha Drolia
बोलते हैं जैसे सारी सृष्टि भगवान चलाते हैं ना वैसे एक पूरा प
बोलते हैं जैसे सारी सृष्टि भगवान चलाते हैं ना वैसे एक पूरा प
Vandna thakur
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
सत्य कुमार प्रेमी
रंजीत शुक्ल
रंजीत शुक्ल
Ranjeet Kumar Shukla
सब अपने नसीबों का
सब अपने नसीबों का
Dr fauzia Naseem shad
"बँटवारा"
Dr. Kishan tandon kranti
दीवाली शुभकामनाएं
दीवाली शुभकामनाएं
kumar Deepak "Mani"
तुम्हारी कहानी
तुम्हारी कहानी
PRATIK JANGID
मां की याद आती है🧑‍💻
मां की याद आती है🧑‍💻
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
स्वयं से तकदीर बदलेगी समय पर
स्वयं से तकदीर बदलेगी समय पर
महेश चन्द्र त्रिपाठी
तुम्हें अपना कहने की तमन्ना थी दिल में...
तुम्हें अपना कहने की तमन्ना थी दिल में...
Vishal babu (vishu)
मंगल मय हो यह वसुंधरा
मंगल मय हो यह वसुंधरा
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
नेता हुए श्रीराम
नेता हुए श्रीराम
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
सवैया छंदों के नाम व मापनी (सउदाहरण )
सवैया छंदों के नाम व मापनी (सउदाहरण )
Subhash Singhai
दलित साहित्य के महानायक : ओमप्रकाश वाल्मीकि
दलित साहित्य के महानायक : ओमप्रकाश वाल्मीकि
Dr. Narendra Valmiki
*जन्म लिया है बेटी ने तो, दुगनी खुशी मनाऍं (गीत)*
*जन्म लिया है बेटी ने तो, दुगनी खुशी मनाऍं (गीत)*
Ravi Prakash
शंभु जीवन-पुष्प रचें....
शंभु जीवन-पुष्प रचें....
डॉ.सीमा अग्रवाल
श्री गणेश भगवान की जन्म कथा
श्री गणेश भगवान की जन्म कथा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
शिलालेख पर लिख दिए, हमने भी कुछ नाम।
शिलालेख पर लिख दिए, हमने भी कुछ नाम।
Suryakant Dwivedi
बाबा भीम आये हैं
बाबा भीम आये हैं
gurudeenverma198
--जो फेमस होता है, वो रूखसत हो जाता है --
--जो फेमस होता है, वो रूखसत हो जाता है --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
Loading...