Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Nov 2023 · 1 min read

हमारे जीवन की सभी समस्याओं की वजह सिर्फ दो शब्द है:—

हमारे जीवन की सभी समस्याओं की वजह सिर्फ दो शब्द है:—

“जल्दी” और “देर”

हम सपने बहुत जल्दी देखते हैं,
और कार्य बहुत देर से करते हैं

हम भरोसा बहुत जल्दी करते हैं,
और माफ करने मे बहुत देर करते हैं।

हम गुस्सा बहुत जल्दी करते हैं,
और माफी बहुत देर से माँगते हैं।

हम हार बहुत जल्दी मानते हैं,
और शुरुआत करने मे बहुत देर करते हैं।

हम रोने मे बहुत जल्दी करते हैं,
और मुस्कुराने में बहुत देर करते हैं।

बदलें “जल्दी” वरना…
बहुत “देर” हो जाएगी…!!!

205 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
स्त्री की स्वतंत्रता
स्त्री की स्वतंत्रता
Sunil Maheshwari
'बेटी की विदाई'
'बेटी की विदाई'
पंकज कुमार कर्ण
करके देखिए
करके देखिए
Seema gupta,Alwar
2367.पूर्णिका
2367.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
खत उसनें खोला भी नहीं
खत उसनें खोला भी नहीं
Sonu sugandh
"मित्रता"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
क़ानून का जनाज़ा तो बेटा
क़ानून का जनाज़ा तो बेटा
*Author प्रणय प्रभात*
शिकारी संस्कृति के
शिकारी संस्कृति के
Sanjay ' शून्य'
स्त्रियों में ईश्वर, स्त्रियों का ताड़न
स्त्रियों में ईश्वर, स्त्रियों का ताड़न
Dr MusafiR BaithA
चाँद को चोर देखता है
चाँद को चोर देखता है
Rituraj shivem verma
"गुजारिश"
Dr. Kishan tandon kranti
Learn to recognize a false alarm
Learn to recognize a false alarm
पूर्वार्थ
इंद्रदेव की बेरुखी
इंद्रदेव की बेरुखी
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
देह से देह का मिलन दो को एक नहीं बनाता है
देह से देह का मिलन दो को एक नहीं बनाता है
Pramila sultan
खट्टी-मीठी यादों सहित,विदा हो रहा  तेईस
खट्टी-मीठी यादों सहित,विदा हो रहा तेईस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ज़िंदगी
ज़िंदगी
Dr fauzia Naseem shad
मतदान दिवस
मतदान दिवस
विजय कुमार अग्रवाल
अंधभक्तो अगर सत्य ही हिंदुत्व ख़तरे में होता
अंधभक्तो अगर सत्य ही हिंदुत्व ख़तरे में होता
शेखर सिंह
मेरे दिल ❤️ में जितने कोने है,
मेरे दिल ❤️ में जितने कोने है,
शिव प्रताप लोधी
नया साल
नया साल
Mahima shukla
मा शारदा
मा शारदा
भरत कुमार सोलंकी
और चौथा ???
और चौथा ???
SHAILESH MOHAN
बुद्धिमान हर बात पर, पूछें कई सवाल
बुद्धिमान हर बात पर, पूछें कई सवाल
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हम शिक्षक
हम शिक्षक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
विक्रमादित्य के बत्तीस गुण
विक्रमादित्य के बत्तीस गुण
Vijay Nagar
*आइसक्रीम (बाल कविता)*
*आइसक्रीम (बाल कविता)*
Ravi Prakash
जय जय जगदम्बे
जय जय जगदम्बे
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हमारी काबिलियत को वो तय करते हैं,
हमारी काबिलियत को वो तय करते हैं,
Dr. Man Mohan Krishna
*शिक्षक हमें पढ़ाता है*
*शिक्षक हमें पढ़ाता है*
Dushyant Kumar
चाहते नहीं अब जिंदगी को, करना दुःखी नहीं हरगिज
चाहते नहीं अब जिंदगी को, करना दुःखी नहीं हरगिज
gurudeenverma198
Loading...