Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Jul 2023 · 1 min read

हमारा देश

देश में अवसर हमें भी जो मिल जाता हैं।
सरहद पर हम भी कुछ मान रखतें हैं।

हम भी देशभक्ति का भाव दिल में रखते हैं।
शब्दों में व्यक्त हम आज एक सच कहते हैं।

हमारे शब्दों से भी देशभक्ति समझते हैं।
कुछ अवसर सेना में हमको भी देते हैं।

भारत माता की शान हम भी बन पाते हैं।
हम भी शहीद भगत सिंह बन सकते हैं।

सच हकीकत और मानवता ही देशभक्ति होती हैं।
बस आज शब्द भाव को धन दौलत समझते हैं।

अवसर ही तो हम सभी देशभक्तों की राह होती है।
हम सबको शोहरत और इनाम वतन से मिलता हैं।

हमें भी भारत देश की सेना में अवसर इच्छा होती हैं।
जय हिन्द जय भारत माता को हम भी नमन करते हैं।

तिरंगे की शान मान मर्यादा में जान हथेली पर रखते हैं।
मेरे भारत देश के वासियों ने लालच देशभक्ति में करते हैं।

जिंदगी के रंगमंच में मृत्यु हम सबको एक दिन आनी है।
आओ उठो और जागो अब देश को हमें ही बचाना है।

देश के शहीदों और देशभक्ति के जीवन कर जाना हैं।

नीरज अग्रवाल चंदौसी उ.प्र

Language: Hindi
246 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कवि के हृदय के उद्गार
कवि के हृदय के उद्गार
Anamika Tiwari 'annpurna '
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*पारस-मणि की चाह नहीं प्रभु, तुमको कैसे पाऊॅं (गीत)*
*पारस-मणि की चाह नहीं प्रभु, तुमको कैसे पाऊॅं (गीत)*
Ravi Prakash
हम दुसरों की चोरी नहीं करते,
हम दुसरों की चोरी नहीं करते,
Dr. Man Mohan Krishna
बेटियां
बेटियां
करन ''केसरा''
मुझे अकेले ही चलने दो ,यह है मेरा सफर
मुझे अकेले ही चलने दो ,यह है मेरा सफर
कवि दीपक बवेजा
*आत्मा की वास्तविक स्थिति*
*आत्मा की वास्तविक स्थिति*
Shashi kala vyas
जिसप्रकार
जिसप्रकार
Dr.Rashmi Mishra
3204.*पूर्णिका*
3204.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बहादुर बेटियाँ
बहादुर बेटियाँ
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
एक उदासी
एक उदासी
Shweta Soni
#परिहास
#परिहास
*प्रणय प्रभात*
दिन तो खैर निकल ही जाते है, बस एक रात है जो कटती नहीं
दिन तो खैर निकल ही जाते है, बस एक रात है जो कटती नहीं
पूर्वार्थ
जाने क्या-क्या कह गई, उनकी झुकी निग़ाह।
जाने क्या-क्या कह गई, उनकी झुकी निग़ाह।
sushil sarna
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
!...............!
!...............!
शेखर सिंह
THE SUN
THE SUN
SURYA PRAKASH SHARMA
मातृत्व
मातृत्व
Dr. Pradeep Kumar Sharma
रंगमंच कलाकार तुलेंद्र यादव जीवन परिचय
रंगमंच कलाकार तुलेंद्र यादव जीवन परिचय
Tulendra Yadav
इंसान
इंसान
Bodhisatva kastooriya
कामचोर (नील पदम् के दोहे)
कामचोर (नील पदम् के दोहे)
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
प्रणय गीत
प्रणय गीत
Neelam Sharma
मैं भी चापलूस बन गया (हास्य कविता)
मैं भी चापलूस बन गया (हास्य कविता)
Dr. Kishan Karigar
पिया घर बरखा
पिया घर बरखा
Kanchan Khanna
"नवाखानी"
Dr. Kishan tandon kranti
बेवक्त बारिश होने से ..
बेवक्त बारिश होने से ..
Keshav kishor Kumar
।। धन तेरस ।।
।। धन तेरस ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
जीत और हार ज़िंदगी का एक हिस्सा है ,
जीत और हार ज़िंदगी का एक हिस्सा है ,
Neelofar Khan
ज़िंदगी की चाहत में
ज़िंदगी की चाहत में
Dr fauzia Naseem shad
बेऔलाद ही ठीक है यारों, हॉं ऐसी औलाद से
बेऔलाद ही ठीक है यारों, हॉं ऐसी औलाद से
gurudeenverma198
Loading...