Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Oct 2023 · 1 min read

हमसे तुम वजनदार हो तो क्या हुआ,

हमसे तुम वजनदार हो तो क्या हुआ,
लोग कहते हैं
तुमसे ज्यादा हमारी बातों में वजन है…

153 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
श्री नेता चालीसा (एक व्यंग्य बाण)
श्री नेता चालीसा (एक व्यंग्य बाण)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सम्मान तुम्हारा बढ़ जाता श्री राम चरण में झुक जाते।
सम्मान तुम्हारा बढ़ जाता श्री राम चरण में झुक जाते।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
चुप्पी
चुप्पी
डी. के. निवातिया
#परिहास-
#परिहास-
*Author प्रणय प्रभात*
अब किसपे श्रृंगार करूँ
अब किसपे श्रृंगार करूँ
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
✍️फिर वही आ गये...
✍️फिर वही आ गये...
'अशांत' शेखर
वसंत - फाग का राग है
वसंत - फाग का राग है
Atul "Krishn"
विरह गीत
विरह गीत
नाथ सोनांचली
3250.*पूर्णिका*
3250.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चंद अश'आर ( मुस्कुराता हिज्र )
चंद अश'आर ( मुस्कुराता हिज्र )
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
और तुम कहते हो मुझसे
और तुम कहते हो मुझसे
gurudeenverma198
मेरे छिनते घर
मेरे छिनते घर
Anjana banda
भारत देश
भारत देश
लक्ष्मी सिंह
उतरन
उतरन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बेमौसम की देखकर, उपल भरी बरसात।
बेमौसम की देखकर, उपल भरी बरसात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
प्रयास
प्रयास
Dr fauzia Naseem shad
आज के दौर के मौसम का भरोसा क्या है।
आज के दौर के मौसम का भरोसा क्या है।
Phool gufran
यदि हर कोई आपसे खुश है,
यदि हर कोई आपसे खुश है,
नेताम आर सी
सुरक्षा
सुरक्षा
Dr. Kishan tandon kranti
विधाता का लेख
विधाता का लेख
rubichetanshukla 781
शिशुपाल वध
शिशुपाल वध
SHAILESH MOHAN
سب کو عید مبارک ہو،
سب کو عید مبارک ہو،
DrLakshman Jha Parimal
दोस्त ना रहा ...
दोस्त ना रहा ...
Abasaheb Sarjerao Mhaske
शीर्षक - खामोशी
शीर्षक - खामोशी
Neeraj Agarwal
सीता ढूँढे राम को,
सीता ढूँढे राम को,
sushil sarna
भोर
भोर
Omee Bhargava
जय भवानी, जय शिवाजी!
जय भवानी, जय शिवाजी!
Kanchan Alok Malu
आज के रिश्ते: ए
आज के रिश्ते: ए
पूर्वार्थ
Loading...