Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Dec 2022 · 1 min read

हनुमानजी

बसता जिनका राम में,सदा-सदा ही प्राण।
ऐसे दिव्य महात्मा, महावीर हनुमान।१।

भजते आठो याम ही,राम-सिया अरु राम।
जीवन का बस ध्येय यह,रखते वे निष्काम।२।

राम पादुका ले चले,भाई भरत महान।
नाम राम का ले चले,केवल श्री हनुमान।३।

दीनों-दुखियों का सदा,हरते कष्ट अपार।
राम-नाम के सेतु से,करवाते भव पार।४।

भक्त नहीं हनुमान-सा,सिद्ध जगत में और।
स्वामी के वे पादुका,और वही सिरमौर।५।

आप राम के परम प्रिय,राम-राम प्रति साँस।
प्रभु मेरे रधुवीर हो, मैं हूँ अदना दास।६।

-सत्यम प्रकाश ‘ऋतुपर्ण’

Language: Hindi
3 Likes · 2 Comments · 228 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हक औरों का मारकर, बने हुए जो सेठ।
हक औरों का मारकर, बने हुए जो सेठ।
डॉ.सीमा अग्रवाल
घुली अजब सी भांग
घुली अजब सी भांग
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
चट्टानी अडान के आगे शत्रु भी झुक जाते हैं, हौसला बुलंद हो तो
चट्टानी अडान के आगे शत्रु भी झुक जाते हैं, हौसला बुलंद हो तो
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
माता शबरी
माता शबरी
SHAILESH MOHAN
बीजारोपण
बीजारोपण
आर एस आघात
मेरी समझ में आज तक
मेरी समझ में आज तक
*Author प्रणय प्रभात*
शामें दर शाम गुजरती जा रहीं हैं।
शामें दर शाम गुजरती जा रहीं हैं।
शिव प्रताप लोधी
मुस्कान
मुस्कान
Santosh Shrivastava
जो  रहते हैं  पर्दा डाले
जो रहते हैं पर्दा डाले
Dr Archana Gupta
2466.पूर्णिका
2466.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेरे नयनों में जल है।
मेरे नयनों में जल है।
Kumar Kalhans
दिल ये तो जानता हैं गुनाहगार कौन हैं,
दिल ये तो जानता हैं गुनाहगार कौन हैं,
Vishal babu (vishu)
चुप्पी!
चुप्पी!
कविता झा ‘गीत’
सफ़र में लाख़ मुश्किल हो मगर रोया नहीं करते
सफ़र में लाख़ मुश्किल हो मगर रोया नहीं करते
Johnny Ahmed 'क़ैस'
"चिन्तन"
Dr. Kishan tandon kranti
सच्ची सहेली - कहानी
सच्ची सहेली - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दोहा त्रयी. .
दोहा त्रयी. .
sushil sarna
छोटी- छोटी प्रस्तुतियों को भी लोग पढ़ते नहीं हैं, फिर फेसबूक
छोटी- छोटी प्रस्तुतियों को भी लोग पढ़ते नहीं हैं, फिर फेसबूक
DrLakshman Jha Parimal
आप समझिये साहिब कागज और कलम की ताकत हर दुनिया की ताकत से बड़ी
आप समझिये साहिब कागज और कलम की ताकत हर दुनिया की ताकत से बड़ी
शेखर सिंह
इंसान जिंहें कहते
इंसान जिंहें कहते
Dr fauzia Naseem shad
*सवर्ण (उच्च जाति)और शुद्र नीच (जाति)*
*सवर्ण (उच्च जाति)और शुद्र नीच (जाति)*
Rituraj shivem verma
आने वाला कल दुनिया में, मुसीबतों का पल होगा
आने वाला कल दुनिया में, मुसीबतों का पल होगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*पत्रिका समीक्षा*
*पत्रिका समीक्षा*
Ravi Prakash
यादों की सौगात
यादों की सौगात
RAKESH RAKESH
सावन और स्वार्थी शाकाहारी भक्त
सावन और स्वार्थी शाकाहारी भक्त
Dr MusafiR BaithA
खुल जाये यदि भेद तो,
खुल जाये यदि भेद तो,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जीवन मंथन
जीवन मंथन
Satya Prakash Sharma
एक कथित रंग के चादर में लिपटे लोकतंत्र से जीवंत समाज की कल्प
एक कथित रंग के चादर में लिपटे लोकतंत्र से जीवंत समाज की कल्प
Anil Kumar
फ़ानी
फ़ानी
Shyam Sundar Subramanian
Chalo khud se ye wada karte hai,
Chalo khud se ye wada karte hai,
Sakshi Tripathi
Loading...