Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Aug 2023 · 1 min read

स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

है सबसे निराला तिरंगा हमारा
बहाता वतन के लिए प्रेम धारा

कहे केसरी शोर्य की है कहानी
तो रँग श्वेत सद्भाव की है निशानी
हरा रंग खुशहाली को है बताता
हमें चक्र भी न्याय का पथ दिखाता
भरे जोश जय हिंद का ख़ूब नारा
है सबसे निराला तिरंगा हमारा

सभी उन शहीदों को श्रद्धा नमन है
जिन्होंने तिरंगे का ओढ़ा कफ़न है
अमर हैं सदा वे अमर ही रहेंगे
न हम भूल बलिदान उनका सकेंगे
जिन्होंने वतन पर ये जीवन है वारा
है सबसे निराला तिरंगा हमारा

है भारत की माटी हमें जैसे चन्दन
इसे भाल पर रख करें माँ का वंदन
जरूरत पड़ी तो कटा सिर भी लेंगे
मगर इस तिरंगे को झुकने न देंगे
हमारे लिए जान से भी ये प्यारा
है सबसे निराला तिरंगा हमारा

419 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
प्रीति
प्रीति
Mahesh Tiwari 'Ayan'
नीलेश
नीलेश
Dhriti Mishra
पूस की रात
पूस की रात
Atul "Krishn"
If we’re just getting to know each other…call me…don’t text.
If we’re just getting to know each other…call me…don’t text.
पूर्वार्थ
तेरा कंधे पे सर रखकर - दीपक नीलपदम्
तेरा कंधे पे सर रखकर - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
प्रो. दलजीत कुमार बने पर्यावरण के प्रहरी
प्रो. दलजीत कुमार बने पर्यावरण के प्रहरी
Nasib Sabharwal
कहीं फूलों की बारिश है कहीं पत्थर बरसते हैं
कहीं फूलों की बारिश है कहीं पत्थर बरसते हैं
Phool gufran
वर्तमान
वर्तमान
Shyam Sundar Subramanian
दूर रहकर तो मैं भी किसी का हो जाऊं
दूर रहकर तो मैं भी किसी का हो जाऊं
डॉ. दीपक मेवाती
ज़िंदगी मायने बदल देगी
ज़िंदगी मायने बदल देगी
Dr fauzia Naseem shad
Bad in good
Bad in good
Bidyadhar Mantry
जिंदगी न जाने किस राह में खडी हो गयीं
जिंदगी न जाने किस राह में खडी हो गयीं
Sonu sugandh
दो साँसों के तीर पर,
दो साँसों के तीर पर,
sushil sarna
नूतन सद्आचार मिल गया
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
तुलसी युग 'मानस' बना,
तुलसी युग 'मानस' बना,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
छठ पूजा
छठ पूजा
Satish Srijan
जगदाधार सत्य
जगदाधार सत्य
महेश चन्द्र त्रिपाठी
17रिश्तें
17रिश्तें
Dr Shweta sood
आस्था
आस्था
Neeraj Agarwal
"भुला ना सके"
Dr. Kishan tandon kranti
जश्न आजादी का ....!!!
जश्न आजादी का ....!!!
Kanchan Khanna
यह हिन्दुस्तान हमारा है
यह हिन्दुस्तान हमारा है
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मेरे वतन मेरे चमन तुझपे हम कुर्बान है
मेरे वतन मेरे चमन तुझपे हम कुर्बान है
gurudeenverma198
खूबसूरत पड़ोसन का कंफ्यूजन
खूबसूरत पड़ोसन का कंफ्यूजन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
विजयी
विजयी
Raju Gajbhiye
गले लोकतंत्र के नंगे / मुसाफ़िर बैठा
गले लोकतंत्र के नंगे / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
■ सूफ़ियाना ग़ज़ल-
■ सूफ़ियाना ग़ज़ल-
*Author प्रणय प्रभात*
हम तो मतदान करेंगे...!
हम तो मतदान करेंगे...!
मनोज कर्ण
बनाकर रास्ता दुनिया से जाने को क्या है
बनाकर रास्ता दुनिया से जाने को क्या है
कवि दीपक बवेजा
Loading...