Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Oct 2016 · 1 min read

सृष्टि स्वयं वंदन करे…: दोहे

नौ रूपों में है बँटा, माता का शुचि रूप.
सृष्टि स्वयं वंदन करे, शोभा दिव्य अनूप..

अश्ववाहिनी आगमन, अपराजिता स्वरूप.
राम शक्तिपूजा यथा, खुले शक्ति के कूप..

आये कन्याराशि में, सूर्य बृहस्पति चन्द्र.
योग बना गजकेसरी, तीव्र बुद्धि, मन मन्द्र..

प्रबल युद्ध का योग है, भीषण जनसंहार.
संधि, घात, विषयोग भी, सावधान हों यार..

नवदुर्गा माँ पार्वती, करिए जग का त्राण.
शारदीय नवरात्रि में, करें विश्व कल्याण..

इंजी० अम्बरीष श्रीवास्तव ‘अम्बर’

Language: Hindi
268 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जिद और जुनून
जिद और जुनून
Dr. Kishan tandon kranti
तुम्हें आसमान मुबारक
तुम्हें आसमान मुबारक
Shekhar Chandra Mitra
 मैं गोलोक का वासी कृष्ण
 मैं गोलोक का वासी कृष्ण
Pooja Singh
*आस्था*
*आस्था*
Dushyant Kumar
गया दौरे-जवानी गया गया तो गया
गया दौरे-जवानी गया गया तो गया
shabina. Naaz
आँगन पट गए (गीतिका )
आँगन पट गए (गीतिका )
Ravi Prakash
सर सरिता सागर
सर सरिता सागर
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
लोग चाहे इश्क़ को दें नाम कोई
लोग चाहे इश्क़ को दें नाम कोई
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"राजनीति में जोश, जुबाँ, ज़मीर, जज्बे और जज्बात सब बदल जाते ह
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
उसकी बाहो में ये हसीन रात आखिरी होगी
उसकी बाहो में ये हसीन रात आखिरी होगी
Ravi singh bharati
Love Is The Reason Behind
Love Is The Reason Behind
Manisha Manjari
"श्रृंगारिका"
Ekta chitrangini
■ सगी तो खुशियां भी नहीं।
■ सगी तो खुशियां भी नहीं।
*प्रणय प्रभात*
किन मुश्किलों से गुजरे और गुजर रहे हैं अबतक,
किन मुश्किलों से गुजरे और गुजर रहे हैं अबतक,
सिद्धार्थ गोरखपुरी
“See, growth isn’t this comfortable, miraculous thing. It ca
“See, growth isn’t this comfortable, miraculous thing. It ca
पूर्वार्थ
मोबाइल महात्म्य (व्यंग्य कहानी)
मोबाइल महात्म्य (व्यंग्य कहानी)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
प्यार भरी चांदनी रात
प्यार भरी चांदनी रात
नूरफातिमा खातून नूरी
*****हॄदय में राम*****
*****हॄदय में राम*****
Kavita Chouhan
होली गीत
होली गीत
Kanchan Khanna
एकीकरण की राह चुनो
एकीकरण की राह चुनो
Jatashankar Prajapati
मंजिल नई नहीं है
मंजिल नई नहीं है
Pankaj Sen
न‌ वो बेवफ़ा, न हम बेवफ़ा-
न‌ वो बेवफ़ा, न हम बेवफ़ा-
Shreedhar
DR arun कुमार shastri
DR arun कुमार shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नादान प्रेम
नादान प्रेम
अनिल "आदर्श"
प्राणवल्लभा 2
प्राणवल्लभा 2
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
* किधर वो गया है *
* किधर वो गया है *
surenderpal vaidya
दूब घास गणपति
दूब घास गणपति
Neelam Sharma
🌙Chaand Aur Main✨
🌙Chaand Aur Main✨
Srishty Bansal
जहाँ बचा हुआ है अपना इतिहास।
जहाँ बचा हुआ है अपना इतिहास।
Buddha Prakash
होगी तुमको बहुत मुश्किल
होगी तुमको बहुत मुश्किल
gurudeenverma198
Loading...