Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jun 2023 · 1 min read

चंद्रयान-3 / (समकालीन कविता)

अब बदलेंगे
मिथक,
परिवर्तित होंगीं
चंद्रमा पर
सदियों-सदियों से
प्रचलित कहावतें ।
शुरू होगा
एक बार फिर
देश-दुनिया के
काव्य-मंचों पर
चंद्रमा पर केंद्रित
समकालीन आलाप ।
लेखकों की
मेज पर
तीव्र गति से
सरसरायेगी स्याही
और गूद दी जाएँगीं
कागजों की अनंत रीमें
चंद्रमा की यशोगाथा में ।
भित्ति-चित्रों-से
चिपक जाएँगे
गलियों-गलियों
चौराहों पर,
मंदिर-मस्जिद
बाजारों पर
चंद्रमा और चुनाव के
पहले अक्षर
‘च’ का केंद्रीयकरण
करते हुए
चुनावों के पोस्टर ।
अब ..
चंद्रमा के नाम पर
लहलहायेगी
कुछ समय तक
किसी खास
राजनीतिक दल की
चुनावी फसल ।
इसलिए
किसी अज्ञात गुफा में
भूमिगत होना ही पड़ेगा
वनिताओं/ललनाओं के
चेहरे को चाँद कहने
बाले प्रेमियों को ।
हाँ..
सिर्फ़ और सिर्फ़
कुछ थोड़े-से
सजग लोग ही पढ़ेंगे
इसरो के
चंद्रयान-3 द्वारा
अगले चौदह दिनों तक
भेजी जाने बाली
प्रमाणिक ख़बरें
और देखेंगे
चंद्रमा की धरती के
प्रमाणिक चित्र
शायद !
समझेंगे भी ।
क्योंकि सही और
अच्छी बात
समझने बाले
पहले भी थे गिने-चुने
और
आज भी हैं इने-गिने ।
०००
— ईश्वर दयाल गोस्वामी

Language: Hindi
8 Likes · 8 Comments · 289 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
क्या मिटायेंगे भला हमको वो मिटाने वाले .
क्या मिटायेंगे भला हमको वो मिटाने वाले .
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
गूँगी गुड़िया ...
गूँगी गुड़िया ...
sushil sarna
नारी
नारी
विजय कुमार अग्रवाल
“ फेसबूक मित्रों की नादानियाँ ”
“ फेसबूक मित्रों की नादानियाँ ”
DrLakshman Jha Parimal
💐प्रेम कौतुक-378💐
💐प्रेम कौतुक-378💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
शुभ रात्रि
शुभ रात्रि
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
लोकशैली में तेवरी
लोकशैली में तेवरी
कवि रमेशराज
"इंसान हो इंसान"
Dr. Kishan tandon kranti
भ्रम नेता का
भ्रम नेता का
Sanjay ' शून्य'
चलना था साथ
चलना था साथ
Dr fauzia Naseem shad
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
शिव स्तुति
शिव स्तुति
मनोज कर्ण
नीर क्षीर विभेद का विवेक
नीर क्षीर विभेद का विवेक
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जब तक मन इजाजत देता नहीं
जब तक मन इजाजत देता नहीं
ruby kumari
ले चल मुझे भुलावा देकर
ले चल मुझे भुलावा देकर
Dr Tabassum Jahan
जब तक नहीं है पास,
जब तक नहीं है पास,
Satish Srijan
घर-घर तिरंगा
घर-घर तिरंगा
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
तारो की चमक ही चाँद की खूबसूरती बढ़ाती है,
तारो की चमक ही चाँद की खूबसूरती बढ़ाती है,
Ranjeet kumar patre
জপ জপ কালী নাম জপ জপ দুর্গা নাম
জপ জপ কালী নাম জপ জপ দুর্গা নাম
Arghyadeep Chakraborty
प्रार्थना
प्रार्थना
Dr.Pratibha Prakash
आसा.....नहीं जीना गमों के साथ अकेले में
आसा.....नहीं जीना गमों के साथ अकेले में
Deepak Baweja
🌹मेरी इश्क सल्तनत 🌹
🌹मेरी इश्क सल्तनत 🌹
साहित्य गौरव
ये न सोच के मुझे बस जरा -जरा पता है
ये न सोच के मुझे बस जरा -जरा पता है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
युद्ध के बाद
युद्ध के बाद
लक्ष्मी सिंह
कल?
कल?
Neeraj Agarwal
** शिखर सम्मेलन **
** शिखर सम्मेलन **
surenderpal vaidya
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़।
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़।
Rj Anand Prajapati
*तुम  हुए ना हमारे*
*तुम हुए ना हमारे*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
जिंदगी एक ख़्वाब सी
जिंदगी एक ख़्वाब सी
डॉ. शिव लहरी
■ दूसरा पहलू
■ दूसरा पहलू
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...