Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 May 2024 · 1 min read

*सुनो माँ*

~~~~~~~~~~~~
तुझे ढूंढूं कहां कहां माँ।
इतना बड़ा…..जहां माँ।
तेरे बारे किस से मैं पूछूं,
तू ख़ुदा-ए- दो-जहाँ माँ।

मैं तारों में.. तुझको खोजूं।
आईने में खुद को निहारूं।
मेरे मुखड़े में , तेरे नक्श हैं,
तेरी शक्ल का मैं निशां माँ।

मेरे मन में तेरी धडक है।
इस तन में तेरी तड़प है।
तेरी ममता की शोहरत,
भला कैसे करूं बयां माँ।

तस्वीर से बाहर आजा।
तू आ के मुझे रिझा जा।
मेरी हस्ती तुझसे क़ायम,
मेरी तू ही…राज़-दाँ माँ।

इस घर में हर खुशी माँ।
एक तेरी ही….कमी माँ।
हंसते..हंसते.. रो देता हूं,
मुझे घेरे दर्द-ए-कारवां माँ।

हर जन्म में..तू मेरी माँ हो।
तेरा रब्ब से ऊंचा मकां हो।
बस यही.. एक इल्तिज़ा है,
मेरी विनम्र विनय सुनो माँ।
~~~~~~~~~~~~
सुधीर कुमार
सरहिंद फतेहगढ़ साहिब पंजाब।

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 32 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सातो जनम के काम सात दिन के नाम हैं।
सातो जनम के काम सात दिन के नाम हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
पिता
पिता
Dr.Priya Soni Khare
अरे आज महफिलों का वो दौर कहाँ है
अरे आज महफिलों का वो दौर कहाँ है
VINOD CHAUHAN
ज़रूरी ना समझा
ज़रूरी ना समझा
Madhuyanka Raj
■ कड़ा सवाल ■
■ कड़ा सवाल ■
*प्रणय प्रभात*
हैप्पी न्यू ईयर 2024
हैप्पी न्यू ईयर 2024
Shivkumar Bilagrami
हमें जीना सिखा रहे थे।
हमें जीना सिखा रहे थे।
Buddha Prakash
बेटा ! बड़े होकर क्या बनोगे ? (हास्य-व्यंग्य)*
बेटा ! बड़े होकर क्या बनोगे ? (हास्य-व्यंग्य)*
Ravi Prakash
चलो मौसम की बात करते हैं।
चलो मौसम की बात करते हैं।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
जड़ता है सरिस बबूल के, देती संकट शूल।
जड़ता है सरिस बबूल के, देती संकट शूल।
आर.एस. 'प्रीतम'
गाँव सहर मे कोन तीत कोन मीठ! / MUSAFIR BAITHA
गाँव सहर मे कोन तीत कोन मीठ! / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
तुम मुझे दिल से
तुम मुझे दिल से
Dr fauzia Naseem shad
नन्ही भिखारन!
नन्ही भिखारन!
कविता झा ‘गीत’
मित्रता-दिवस
मित्रता-दिवस
Kanchan Khanna
मेरी चाहत
मेरी चाहत
Namrata Sona
पति पत्नी में परस्पर हो प्यार और सम्मान,
पति पत्नी में परस्पर हो प्यार और सम्मान,
ओनिका सेतिया 'अनु '
ये आँखे हट नही रही तेरे दीदार से, पता नही
ये आँखे हट नही रही तेरे दीदार से, पता नही
Tarun Garg
सुविचार
सुविचार
Sanjeev Kumar mishra
"फासले उम्र के" ‌‌
Chunnu Lal Gupta
करता नहीं हूँ फिक्र मैं, ऐसा हुआ तो क्या होगा
करता नहीं हूँ फिक्र मैं, ऐसा हुआ तो क्या होगा
gurudeenverma198
सपने..............
सपने..............
पूर्वार्थ
मुश्किल है अपना मेल प्रिय।
मुश्किल है अपना मेल प्रिय।
Kumar Kalhans
23/220. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/220. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*पृथ्वी दिवस*
*पृथ्वी दिवस*
Madhu Shah
बेहिसाब सवालों के तूफान।
बेहिसाब सवालों के तूफान।
Taj Mohammad
जब असहिष्णुता सर पे चोट करती है ,मंहगाईयाँ सर चढ़ के जब तांडव
जब असहिष्णुता सर पे चोट करती है ,मंहगाईयाँ सर चढ़ के जब तांडव
DrLakshman Jha Parimal
वादे खिलाफी भी कर,
वादे खिलाफी भी कर,
Mahender Singh
गर तुम हो
गर तुम हो
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
जीवन संघर्ष
जीवन संघर्ष
Raju Gajbhiye
** बहाना ढूंढता है **
** बहाना ढूंढता है **
surenderpal vaidya
Loading...