Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

सुखद सुहावन सावन आया

सुखद सुहावन सावन आया !
जीव जन्तु मेढक तन पाया !!
मोर, पपीहा, कोयल बोले !
मस्त पवन चले होले होले !!
हरा भरा उपवन मह्के जब !
पंछी पेड़ों पर चहके तब !!
इंद्र धनुष कई रंग दिखाया !
सुखद सुहावन सावन आया !!
छम छम बरसे बरखा रानी !
खेतों में सागर सा पानी !!
नदियाँ नाले करते कल कल !
बैलो के संग संग चलते हल !!
खुश होकर जुगनू फिर गाया !
सुखद सुहावन सावन आया !!
पके आम जामुन फल खाते !
कीचड़ में लतपत हो जाते !!
गाय साथ हम जंगल रहते !
दुःख सुख,वारिस भी सह्ते !!
याद मेरा आज बचपन आया !
सुखद सुहावन सावन आया !!

Language: Hindi
Tag: गीत
388 Views
You may also like:
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
" राजस्थान दिवस "
jaswant Lakhara
*इंडिया हटाओ*
Ravi Prakash
Rainbow (indradhanush)
Nupur Pathak
पेड़
Sushil chauhan
चांद का पहरा
Kaur Surinder
कैसी ख्वाईश अब
गायक और लेखक अजीत कुमार तलवार
इंतजार से बेहतर है कोशिश करना
कवि दीपक बवेजा
मचल रहा है दिल,इसे समझाओ
Ram Krishan Rastogi
गजानन
Seema gupta ( bloger) Gupta
शरद पूर्णिमा
अभिनव अदम्य
Why Not Heaven Have Visiting Hours?
Manisha Manjari
अथक प्रयास हो
Dr fauzia Naseem shad
🌺🌤️जिन्दगी उगता हुआ सूरज है🌤️🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
संघर्ष बिना कुछ नहीं मिलता
Shriyansh Gupta
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कैसे प्रणय गीत लिख जाऊँ
कुमार अविनाश केसर
"एक यार था मेरा"
Lohit Tamta
सच होता है कड़वा
gurudeenverma198
सृजन की तैयारी
Saraswati Bajpai
दोहे एकादश....
डॉ.सीमा अग्रवाल
“ मत पीटो ढोल ”
DrLakshman Jha Parimal
तूणीर (श्रेष्ठ काव्य रचनाएँ)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कर्म पथ
AMRESH KUMAR VERMA
नीम का छाँव लेकर
सिद्धार्थ गोरखपुरी
हमको समझ ना पाए।
Taj Mohammad
✍️कधी कधी✍️
'अशांत' शेखर
पिता
लक्ष्मी सिंह
मैथिलीमे चारिटा हाइकु
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
'बंधन'
Godambari Negi
Loading...