Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Apr 2018 · 1 min read

सीधी बात करता हुँ

देख घुमा फिरा कर बात करनी नहीं आती मुझे
सीधी बात करता हुँ
जब से तुमको देखा है
मेरा सारा हिसाब-किताब बिगड़ गया
दिल की हार्ड डिस्क में उप्लोड हो गई हो तुम
जहाँ भी जाता हुँ तू ही दिखती है
देख घुमा फिरा कर बात करनी नहीं आती मुझे
सीधी बात करता हुँ
तेरी तरहा मैं भी तन्हा हुँ
समझ नहीं आ रहा क्या हो रहा है मुझे
सोने लगता हुँ तो नींद नहीं आती
खाना खाने बेठूँ तो भूख नहीं लगती
लोग बुलाते है पर मुझे सुनता नहीं
अपने आप से बातें करता रहता हुँ
देख घुमा फिरा कर बात करनी नहीं आती मुझे
सीधी बात करता हुँ

राज स्वामी

Language: Hindi
1 Like · 331 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हो हमारी या तुम्हारी चल रही है जिंदगी।
हो हमारी या तुम्हारी चल रही है जिंदगी।
सत्य कुमार प्रेमी
*कॉंवड़ियों को कीजिए, झुककर सहज प्रणाम (कुंडलिया)*
*कॉंवड़ियों को कीजिए, झुककर सहज प्रणाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
गुरु बिना ज्ञान नहीं, जीवन में सम्मान नहीं।
गुरु बिना ज्ञान नहीं, जीवन में सम्मान नहीं।
Ranjeet kumar patre
उदास शख्सियत सादा लिबास जैसी हूँ
उदास शख्सियत सादा लिबास जैसी हूँ
Shweta Soni
मसल कर कली को
मसल कर कली को
Pratibha Pandey
सपना
सपना
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
अपवित्र मानसिकता से परे,
अपवित्र मानसिकता से परे,
शेखर सिंह
2733. *पूर्णिका*
2733. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कोशिश मेरी बेकार नहीं जायेगी कभी
कोशिश मेरी बेकार नहीं जायेगी कभी
gurudeenverma198
हमने ख़ामोशियों को
हमने ख़ामोशियों को
Dr fauzia Naseem shad
ज़माने ने मुझसे ज़रूर कहा है मोहब्बत करो,
ज़माने ने मुझसे ज़रूर कहा है मोहब्बत करो,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
"बेदर्द जमाने में"
Dr. Kishan tandon kranti
योग की महिमा
योग की महिमा
Dr. Upasana Pandey
हर बार धोखे से धोखे के लिये हम तैयार है
हर बार धोखे से धोखे के लिये हम तैयार है
manisha
जिंदगी एक भंवर है
जिंदगी एक भंवर है
Harminder Kaur
बिना वजह जब हो ख़ुशी, दुवा करे प्रिय नेक।
बिना वजह जब हो ख़ुशी, दुवा करे प्रिय नेक।
आर.एस. 'प्रीतम'
आत्महत्या कर के भी, मैं जिंदा हूं,
आत्महत्या कर के भी, मैं जिंदा हूं,
Pramila sultan
Nothing is easier in life than
Nothing is easier in life than "easy words"
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मैं नहीं तो कोई और सही
मैं नहीं तो कोई और सही
Shekhar Chandra Mitra
* कुछ पता चलता नहीं *
* कुछ पता चलता नहीं *
surenderpal vaidya
गणतंत्र
गणतंत्र
लक्ष्मी सिंह
पापा
पापा
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
है आँखों में कुछ नमी सी
है आँखों में कुछ नमी सी
हिमांशु Kulshrestha
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मां
मां
Slok maurya "umang"
"प्रतिमा-स्थापना के बाद प्राण-प्रतिष्ठा" जितना आवश्यक है "कृ
*प्रणय प्रभात*
आंधी है नए गांधी
आंधी है नए गांधी
Sanjay ' शून्य'
उगाएँ प्रेम की फसलें, बढ़ाएँ खूब फुलवारी।
उगाएँ प्रेम की फसलें, बढ़ाएँ खूब फुलवारी।
डॉ.सीमा अग्रवाल
****बहता मन****
****बहता मन****
Kavita Chouhan
अर्थार्जन का सुखद संयोग
अर्थार्जन का सुखद संयोग
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...