Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2016 · 1 min read

“सीख गई हूँ “

हाँ ,मैं पिघलना सीख गई हूँ ,
और तुम … … … … … जलना|
मैं,… … … बहना सीख गई हूँ,
और तुम … … … … … ठहरना|
सुनो!मैं मौन रहना सीख गई हूँ,
और तुम … … … … … … बोलना|
कहो ना!कुछ भी … … … … … …,
सुनूँगी, मगर … … … कहूँगी नहीं|
जलो ना! … … … … कितना भी,
पिघलूँगी,मगर … … … जलूँगी नही|
रोको ना¡ कितना भी … … … … ,
बहूँगी, मगर … … … रूकूँगी नहीं||
…निधि…

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 296 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डा0 निधि श्रीवास्तव "सरोद"
View all
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-536💐
💐प्रेम कौतुक-536💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*साथ निभाना साथिया*
*साथ निभाना साथिया*
Harminder Kaur
क्या अब भी तुम न बोलोगी
क्या अब भी तुम न बोलोगी
Rekha Drolia
साधना
साधना
Vandna Thakur
जल प्रदूषण पर कविता
जल प्रदूषण पर कविता
कवि अनिल कुमार पँचोली
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
भोर पुरानी हो गई
भोर पुरानी हो गई
आर एस आघात
हम सब में एक बात है
हम सब में एक बात है
Yash mehra
सच की पेशी
सच की पेशी
Suryakant Dwivedi
रुई-रुई से धागा बना
रुई-रुई से धागा बना
TARAN VERMA
बात बनती हो जहाँ,  बात बनाए रखिए ।
बात बनती हो जहाँ, बात बनाए रखिए ।
Rajesh Tiwari
23/21.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/21.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
'एकला चल'
'एकला चल'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
सजल नयन
सजल नयन
Dr. Meenakshi Sharma
मेरे पास, तेरे हर सवाल का जवाब है
मेरे पास, तेरे हर सवाल का जवाब है
Bhupendra Rawat
अगर मध्यस्थता हनुमान (परमार्थी) की हो तो बंदर (बाली)और दनुज
अगर मध्यस्थता हनुमान (परमार्थी) की हो तो बंदर (बाली)और दनुज
Sanjay ' शून्य'
■ आज का शेर
■ आज का शेर
*Author प्रणय प्रभात*
नारी टीवी में दिखी, हर्षित गधा अपार (हास्य कुंडलिया)
नारी टीवी में दिखी, हर्षित गधा अपार (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
बूँद-बूँद से बनता सागर,
बूँद-बूँद से बनता सागर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
'ण' माने कुच्छ नहीं
'ण' माने कुच्छ नहीं
Satish Srijan
हों जो तुम्हे पसंद वही बात कहेंगे।
हों जो तुम्हे पसंद वही बात कहेंगे।
Rj Anand Prajapati
सोचता हूँ के एक ही ख्वाईश
सोचता हूँ के एक ही ख्वाईश
'अशांत' शेखर
हर चेहरा है खूबसूरत
हर चेहरा है खूबसूरत
Surinder blackpen
किछ पन्नाके छै ई जिनगीहमरा हाथमे कलम नइँमेटाैना थमाएल गेल अछ
किछ पन्नाके छै ई जिनगीहमरा हाथमे कलम नइँमेटाैना थमाएल गेल अछ
गजेन्द्र गजुर ( Gajendra Gajur )
बीज और विचित्रताओं पर कुछ बात
बीज और विचित्रताओं पर कुछ बात
Dr MusafiR BaithA
भगतसिंह: एक जीनियस
भगतसिंह: एक जीनियस
Shekhar Chandra Mitra
Kitna mushkil hota hai jab safar me koi sath nhi hota.
Kitna mushkil hota hai jab safar me koi sath nhi hota.
Sakshi Tripathi
बिन कहे बिन सुने
बिन कहे बिन सुने
Dr fauzia Naseem shad
प्रभात वर्णन
प्रभात वर्णन
Godambari Negi
*मनायेंगे स्वतंत्रता दिवस*
*मनायेंगे स्वतंत्रता दिवस*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...