Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jan 2017 · 1 min read

सिखाया पाठ जीवन का, गुरूकुल हो गई अम्मा

जो आँखों से गिरा मोती, तो व्याकुल हो गई अम्मा
ख़ुशी से जो खिला चेहरा, तो बुलबुल हो गई अम्मा
मेरे सुख साथ अम्मा के मेरे दुख साथ अम्मा के
सिखाया पाठ जीवन का, गुरूकुल हो गई अम्मा

Language: Hindi
455 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from लोधी डॉ. आशा 'अदिति'
View all
You may also like:
2680.*पूर्णिका*
2680.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
निर्धनता ऐश्वर्य क्या , जैसे हैं दिन - रात (कुंडलिया)
निर्धनता ऐश्वर्य क्या , जैसे हैं दिन - रात (कुंडलिया)
Ravi Prakash
पत्नी की खोज
पत्नी की खोज
सुरेश अजगल्ले"इंद्र"
वाह ग़ालिब तेरे इश्क के फतवे भी कमाल है
वाह ग़ालिब तेरे इश्क के फतवे भी कमाल है
Vishal babu (vishu)
बेवफा
बेवफा
Aditya Raj
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
काश़ वो वक़्त लौट कर
काश़ वो वक़्त लौट कर
Dr fauzia Naseem shad
// जिंदगी दो पल की //
// जिंदगी दो पल की //
Surya Barman
■ सीधी बात, नो बकवास...
■ सीधी बात, नो बकवास...
*Author प्रणय प्रभात*
।। आशा और आकांक्षा ।।
।। आशा और आकांक्षा ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
“बिरहनी की तड़प”
“बिरहनी की तड़प”
DrLakshman Jha Parimal
द्वारिका गमन
द्वारिका गमन
Rekha Drolia
गुफ्तगू तुझसे करनी बहुत ज़रूरी है ।
गुफ्तगू तुझसे करनी बहुत ज़रूरी है ।
Phool gufran
यूं ही नहीं कहलाते, चिकित्सक/भगवान!
यूं ही नहीं कहलाते, चिकित्सक/भगवान!
Manu Vashistha
ईश्वर है
ईश्वर है
साहिल
आओ दीप जलायें
आओ दीप जलायें
डॉ. शिव लहरी
हूं तो इंसान लेकिन बड़ा वे हया
हूं तो इंसान लेकिन बड़ा वे हया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
उसी ने हाल यह किया है
उसी ने हाल यह किया है
gurudeenverma198
जब आए शरण विभीषण तो प्रभु ने लंका का राज दिया।
जब आए शरण विभीषण तो प्रभु ने लंका का राज दिया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
चलो माना तुम्हें कष्ट है, वो मस्त है ।
चलो माना तुम्हें कष्ट है, वो मस्त है ।
Dr. Man Mohan Krishna
मां बेटी
मां बेटी
Neeraj Agarwal
मेरी कहानी मेरी जुबानी
मेरी कहानी मेरी जुबानी
Vandna Thakur
// अगर //
// अगर //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हमारा ऐसा हिंदुस्तान।
हमारा ऐसा हिंदुस्तान।
Satish Srijan
"शब्द"
Dr. Kishan tandon kranti
करना है, मतदान हमको
करना है, मतदान हमको
Dushyant Kumar
मुक्तक-विन्यास में एक तेवरी
मुक्तक-विन्यास में एक तेवरी
कवि रमेशराज
बदलना भी जरूरी है
बदलना भी जरूरी है
Surinder blackpen
तुम याद आ रहे हो।
तुम याद आ रहे हो।
Taj Mohammad
मेरी तू  रूह  में  बसती  है
मेरी तू रूह में बसती है
डॉ. दीपक मेवाती
Loading...