Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Jul 2023 · 1 min read

सावन‌….………हर हर भोले का मन भावन

सावन का महीना श्रृद्धा भाव है। चाहत जीवन की हर हर नाम है।
सुबह और शाम बस शंभू ध्यान है। जीवन के सच में हम सभी जानते हैं।
हरियाली और बारिश की वाह वाह है। सावन या श्रावण मास मस्ती संग हैं।
तेरा नाम सुबह शाम मेरा काम है। हर हर महादेव हर हर शंभू नाम है।
नाम से हम सभी के बनते सब काम है। आओ सावन के महीने में मचाते धूम हैं।
जय भोले बाबा का नाम हम लेते हैं।
सावन के महीने का पुण्य हम पाते हैं।

बेलपत्र भांग धतूरा हम सभी चढ़ाते हैं।
सावन के माह में भोले बाबा भक्तों से खुश हो जाते हैं।

हर हर शंभू हर हर महादेव हम सभी भक्त गाते हैं।

नीरज अग्रवाल चंदौसी उ.प्र*
*

Language: Hindi
210 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दूर रहकर तो मैं भी किसी का हो जाऊं
दूर रहकर तो मैं भी किसी का हो जाऊं
डॉ. दीपक मेवाती
मुस्कुराहट से बड़ी कोई भी चेहरे की सौंदर्यता नही।
मुस्कुराहट से बड़ी कोई भी चेहरे की सौंदर्यता नही।
Rj Anand Prajapati
काश! मेरे पंख होते
काश! मेरे पंख होते
Adha Deshwal
हे पिता
हे पिता
अनिल मिश्र
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
*सरकारी कार्यक्रम का पास (हास्य व्यंग्य)*
*सरकारी कार्यक्रम का पास (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
वक़्त ने किया है अनगिनत सवाल तपते...
वक़्त ने किया है अनगिनत सवाल तपते...
सिद्धार्थ गोरखपुरी
दो शे'र
दो शे'र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
विद्यार्थी जीवन
विद्यार्थी जीवन
Santosh kumar Miri
🙅क्षणिका🙅
🙅क्षणिका🙅
*Author प्रणय प्रभात*
नव दीप जला लो
नव दीप जला लो
Mukesh Kumar Sonkar
सच तो हम तुम बने हैं
सच तो हम तुम बने हैं
Neeraj Agarwal
हर सांस का कर्ज़ बस
हर सांस का कर्ज़ बस
Dr fauzia Naseem shad
तलाशी लेकर मेरे हाथों की क्या पा लोगे तुम
तलाशी लेकर मेरे हाथों की क्या पा लोगे तुम
शेखर सिंह
मैं हु दीवाना तेरा
मैं हु दीवाना तेरा
Basant Bhagawan Roy
कैसे करूँ मैं तुमसे प्यार
कैसे करूँ मैं तुमसे प्यार
gurudeenverma198
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
शेर
शेर
Monika Verma
Though of the day 😇
Though of the day 😇
ASHISH KUMAR SINGH
न ही मगरूर हूं, न ही मजबूर हूं।
न ही मगरूर हूं, न ही मजबूर हूं।
विकास शुक्ल
फ़ितरत-ए-साँप
फ़ितरत-ए-साँप
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
*आदत बदल डालो*
*आदत बदल डालो*
Dushyant Kumar
वर्षा ऋतु के बाद
वर्षा ऋतु के बाद
लक्ष्मी सिंह
तेवरी का सौन्दर्य-बोध +रमेशराज
तेवरी का सौन्दर्य-बोध +रमेशराज
कवि रमेशराज
संवेदना बोलती आँखों से 🙏
संवेदना बोलती आँखों से 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*कागज़ कश्ती और बारिश का पानी*
*कागज़ कश्ती और बारिश का पानी*
sudhir kumar
"समय का मूल्य"
Yogendra Chaturwedi
(17) यह शब्दों का अनन्त, असीम महासागर !
(17) यह शब्दों का अनन्त, असीम महासागर !
Kishore Nigam
দারিদ্রতা ,রঙ্গভেদ ,
দারিদ্রতা ,রঙ্গভেদ ,
DrLakshman Jha Parimal
SAARC Summit to be held in Nepal on 05 May, dignitaries to be honoured
SAARC Summit to be held in Nepal on 05 May, dignitaries to be honoured
World News
Loading...