Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jul 2016 · 1 min read

सावन रातों में तुमबिन तन्हा गुजारा है

सावन रातों में तुमबिन तन्हा गुजारा है
बसंत आगमन तेरे आने का इशारा है

तुझे याद कर कभी हँसना कभी रोना
तसव्वुर में खो जाना आदत हमारा है

तूने दी थी निशानी बिछड़ने के पहेले
पुरानी खत,तस्वीर जीने का सहारा है

वो बचपन की बाते याद जरा कर
मेरी ज़िंदगी रंगी नदिया, तू किनारा है

ये जाने वफ़ा लौट आ मेरे शहर
दिल ने तुम्हें आज फिर पुकारा है

कौन कहता है तुम्हें भूल गये है
जुबाँ में बस एक नाम तुम्हारा है

279 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मित्र भेस में आजकल,
मित्र भेस में आजकल,
sushil sarna
मनुष्य तुम हर बार होगे
मनुष्य तुम हर बार होगे
Harish Chandra Pande
जीवन तुम्हें जहां ले जाए तुम निर्भय होकर जाओ
जीवन तुम्हें जहां ले जाए तुम निर्भय होकर जाओ
Ms.Ankit Halke jha
देश का वामपंथ
देश का वामपंथ
विजय कुमार अग्रवाल
माँ का घर
माँ का घर
Pratibha Pandey
💐प्रेम कौतुक-239💐
💐प्रेम कौतुक-239💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कर क्षमा सब भूल मैं छूता चरण
कर क्षमा सब भूल मैं छूता चरण
Basant Bhagawan Roy
एकता
एकता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
गंवारा ना होगा हमें।
गंवारा ना होगा हमें।
Taj Mohammad
भाईचारे का प्रतीक पर्व: लोहड़ी
भाईचारे का प्रतीक पर्व: लोहड़ी
कवि रमेशराज
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
Sanjay ' शून्य'
दोस्त मेरे यार तेरी दोस्ती का आभार
दोस्त मेरे यार तेरी दोस्ती का आभार
Anil chobisa
स्वतंत्रता दिवस
स्वतंत्रता दिवस
Dr Archana Gupta
Chhod aye hum wo galiya,
Chhod aye hum wo galiya,
Sakshi Tripathi
में स्वयं
में स्वयं
PRATIK JANGID
6) “जय श्री राम”
6) “जय श्री राम”
Sapna Arora
*खादिम*
*खादिम*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कोई नहीं देता...
कोई नहीं देता...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
नारी- स्वरूप
नारी- स्वरूप
Buddha Prakash
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*Author प्रणय प्रभात*
दुनिया जमाने में
दुनिया जमाने में
manjula chauhan
मुझे प्रीत है वतन से,
मुझे प्रीत है वतन से,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
भारत का फौजी जवान
भारत का फौजी जवान
Satish Srijan
सीखा दे ना सबक ऐ जिंदगी अब तो, लोग हमको सिर्फ मतलब के लिए या
सीखा दे ना सबक ऐ जिंदगी अब तो, लोग हमको सिर्फ मतलब के लिए या
Rekha khichi
तुम्हें जन्मदिन मुबारक हो
तुम्हें जन्मदिन मुबारक हो
gurudeenverma198
साथ छूटा जब किसी का, फिर न दोबारा मिला(मुक्तक)
साथ छूटा जब किसी का, फिर न दोबारा मिला(मुक्तक)
Ravi Prakash
बन गई पाठशाला
बन गई पाठशाला
rekha mohan
अनन्त तक चलना होगा...!!!!
अनन्त तक चलना होगा...!!!!
Jyoti Khari
मुझे चाहिए एक दिल
मुझे चाहिए एक दिल
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
23/205. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/205. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Loading...