Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Jan 2024 · 1 min read

सामाजिक बहिष्कार हो

जय जोहार
“संपूर्ण भारत में आदिवासी समाज की पढ़ी लिखी समझदार लड़कियों द्वारा गैर आदिवासी समाज में शादी करने तथा गैर आदिवासी समाज के व्यक्ति से प्रेम कर रही लड़कियों (प्रेम प्रसंग वाली भी दो दिन बाद शादी ही करेगी)का तत्काल सामाजिक बहिष्कार होना चाहिए।यह समाज के गरीब लोगों का हक खाने वाली डाकण है।”
: राकेश देवडे़ बिरसावादी

Language: Hindi
115 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
छठ परब।
छठ परब।
Acharya Rama Nand Mandal
जन्म मरण न जीवन है।
जन्म मरण न जीवन है।
Rj Anand Prajapati
दुर्भाग्य का सामना
दुर्भाग्य का सामना
Paras Nath Jha
हृदय की चोट थी नम आंखों से बह गई
हृदय की चोट थी नम आंखों से बह गई
इंजी. संजय श्रीवास्तव
तन्हाई
तन्हाई
Surinder blackpen
हिय जुराने वाली मिताई पाना सुख का सागर पा जाना है!
हिय जुराने वाली मिताई पाना सुख का सागर पा जाना है!
Dr MusafiR BaithA
* मुस्कुरा देना *
* मुस्कुरा देना *
surenderpal vaidya
नारियों के लिए जगह
नारियों के लिए जगह
Dr. Kishan tandon kranti
धूमिल होती यादों का, आज भी इक ठिकाना है।
धूमिल होती यादों का, आज भी इक ठिकाना है।
Manisha Manjari
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*** तस्वीर....!!! ***
*** तस्वीर....!!! ***
VEDANTA PATEL
"किसने कहा कि-
*Author प्रणय प्रभात*
प्रेम
प्रेम
विमला महरिया मौज
नैन मटकका और कहीं मिलना जुलना और कहीं
नैन मटकका और कहीं मिलना जुलना और कहीं
Dushyant Kumar Patel
हिंसा
हिंसा
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
Natasha is my Name!
Natasha is my Name!
Natasha Stephen
ग़ज़ल _ मिरी #मैयत पे  रोने मे.....
ग़ज़ल _ मिरी #मैयत पे  रोने मे.....
शायर देव मेहरानियां
पापा , तुम बिन जीवन रीता है
पापा , तुम बिन जीवन रीता है
Dilip Kumar
मुक्ति का दे दो दान
मुक्ति का दे दो दान
Samar babu
कविता
कविता
Rambali Mishra
आप सभी को रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं
आप सभी को रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
बीते लम़्हे
बीते लम़्हे
Shyam Sundar Subramanian
कभी गुज़र न सका जो गुज़र गया मुझमें
कभी गुज़र न सका जो गुज़र गया मुझमें
Shweta Soni
*तिरंगा मेरे  देश की है शान दोस्तों*
*तिरंगा मेरे देश की है शान दोस्तों*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कीमत बढ़ानी है
कीमत बढ़ानी है
Roopali Sharma
*बहुत याद आएंगे श्री शौकत अली खाँ एडवोकेट*
*बहुत याद आएंगे श्री शौकत अली खाँ एडवोकेट*
Ravi Prakash
विलोमात्मक प्रभाव~
विलोमात्मक प्रभाव~
दिनेश एल० "जैहिंद"
3258.*पूर्णिका*
3258.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
केशव
केशव
Dinesh Kumar Gangwar
Loading...