Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Feb 2024 · 1 min read

साँसों के संघर्ष से, देह गई जब हार ।

साँसों के संघर्ष से, देह गई जब हार ।
छोड़ दिया तब सूक्ष्म ने, आभासी संसार ।।

सुशील सरना / 13-2-24

136 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम रट गये  जुबां पे,
तुम रट गये जुबां पे,
Satish Srijan
बस में भीड़ भरे या भेड़। ड्राइवर को क्या फ़र्क़ पड़ता है। उसकी अप
बस में भीड़ भरे या भेड़। ड्राइवर को क्या फ़र्क़ पड़ता है। उसकी अप
*प्रणय प्रभात*
मन के सवालों का जवाब नाही
मन के सवालों का जवाब नाही
भरत कुमार सोलंकी
बेटी है हम हमें भी शान से जीने दो
बेटी है हम हमें भी शान से जीने दो
SHAMA PARVEEN
- दीवारों के कान -
- दीवारों के कान -
bharat gehlot
जीवन
जीवन
नन्दलाल सुथार "राही"
मानवता का शत्रु आतंकवाद हैं
मानवता का शत्रु आतंकवाद हैं
Raju Gajbhiye
प्रेम भरी नफरत
प्रेम भरी नफरत
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
Irritable Bowel Syndrome
Irritable Bowel Syndrome
Tushar Jagawat
दिवाली मुबारक नई ग़ज़ल विनीत सिंह शायर
दिवाली मुबारक नई ग़ज़ल विनीत सिंह शायर
Vinit kumar
23/35.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/35.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जो रोज समय पर उगता है
जो रोज समय पर उगता है
Shweta Soni
मुझे अकेले ही चलने दो ,यह है मेरा सफर
मुझे अकेले ही चलने दो ,यह है मेरा सफर
कवि दीपक बवेजा
🌹 *गुरु चरणों की धूल* 🌹
🌹 *गुरु चरणों की धूल* 🌹
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
आसमां से आई
आसमां से आई
Punam Pande
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
भगवान कहाँ है तू?
भगवान कहाँ है तू?
Bodhisatva kastooriya
प्रेम पर्व आया सखी
प्रेम पर्व आया सखी
लक्ष्मी सिंह
मेरा तोता
मेरा तोता
Kanchan Khanna
माना सांसों के लिए,
माना सांसों के लिए,
शेखर सिंह
कुछ तुम कहो जी, कुछ हम कहेंगे
कुछ तुम कहो जी, कुछ हम कहेंगे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
अपने
अपने
Adha Deshwal
श्री राम राज्याभिषेक
श्री राम राज्याभिषेक
नवीन जोशी 'नवल'
कहां जाऊं सत्य की खोज में।
कहां जाऊं सत्य की खोज में।
Taj Mohammad
"मित्रता"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
"कहाँ छुपोगे?"
Dr. Kishan tandon kranti
नारी
नारी
Mamta Rani
*मॉं की गोदी स्वर्ग है, देवलोक-उद्यान (कुंडलिया )*
*मॉं की गोदी स्वर्ग है, देवलोक-उद्यान (कुंडलिया )*
Ravi Prakash
धीरज रख ओ मन
धीरज रख ओ मन
Harish Chandra Pande
तितली रानी (बाल कविता)
तितली रानी (बाल कविता)
नाथ सोनांचली
Loading...