Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Jun 2023 · 1 min read

सवाल जवाब

सवाल का जवाब

राज्य शासन के निर्देश पर कई बार छात्र छात्राओं को भी सर्वेक्षण का कार्य सौंप दिया जाता है। ऐसे ही किसी विद्यालय के छात्र सर्वेक्षण के कार्य पर लगे हुए थे।
साक्षरता अभियान से जुड़े सर्वेक्षक छात्र ने एक घर का दरवाजा खटखटाया।
कुछ ही पल में एक महाशय दरवाजा खोले, तो छात्र ने विनम्रता से कहा, “हम साक्षरता अभियान के तहत सर्वेक्षण कर रहे हैं। कृपया बताइए कि आप साक्षर है या नहीं ?”
महाशय मुसकराते हुए बोले, “अरे भाई, मैं इस जिले का जिला शिक्षा अधिकारी हूँ। यह सर्वेक्षण मेरे ही निर्देश पर हो रहा है।”
छात्र बोला, “यह मेरे सवाल का जवाब नहीं है। कृपया आप बताइए कि आप साक्षर हैं या नहीं ?”
डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा
रायपुर, छत्तीसगढ़

Language: Hindi
150 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
उम्र के हर पड़ाव पर
उम्र के हर पड़ाव पर
Surinder blackpen
सब अनहद है
सब अनहद है
Satish Srijan
माया
माया
Sanjay ' शून्य'
"सत्य"
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
!! प्रार्थना !!
!! प्रार्थना !!
Chunnu Lal Gupta
हिंदी साहित्य में लुप्त होती जनचेतना
हिंदी साहित्य में लुप्त होती जनचेतना
Dr.Archannaa Mishraa
चंद अशआर -ग़ज़ल
चंद अशआर -ग़ज़ल
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
"सफर अधूरा है"
Dr. Kishan tandon kranti
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेघों का इंतजार है
मेघों का इंतजार है
VINOD CHAUHAN
महामारी एक प्रकोप
महामारी एक प्रकोप
Sueta Dutt Chaudhary Fiji
त्याग समर्पण न रहे, टूट ते परिवार।
त्याग समर्पण न रहे, टूट ते परिवार।
Anil chobisa
धीरे धीरे उन यादों को,
धीरे धीरे उन यादों को,
Vivek Pandey
दोहा छंद विधान
दोहा छंद विधान
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
पूरा पूरा हिसाब है जनाब
पूरा पूरा हिसाब है जनाब
shabina. Naaz
आज होगा नहीं तो कल होगा
आज होगा नहीं तो कल होगा
Shweta Soni
ये रात है जो तारे की चमक बिखरी हुई सी
ये रात है जो तारे की चमक बिखरी हुई सी
Befikr Lafz
मानव हो मानवता धरो
मानव हो मानवता धरो
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
Really true nature and Cloud.
Really true nature and Cloud.
Neeraj Agarwal
नमन तुमको है वीणापाणि
नमन तुमको है वीणापाणि
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
मन की प्रीत
मन की प्रीत
भरत कुमार सोलंकी
बुद्ध सा करुणामयी कोई नहीं है।
बुद्ध सा करुणामयी कोई नहीं है।
Buddha Prakash
लगाव का चिराग बुझता नहीं
लगाव का चिराग बुझता नहीं
Seema gupta,Alwar
Inspiring Poem
Inspiring Poem
Saraswati Bajpai
वर्तमान युद्ध परिदृश्य एवं विश्व शांति तथा स्वतंत्र सह-अस्तित्व पर इसका प्रभाव
वर्तमान युद्ध परिदृश्य एवं विश्व शांति तथा स्वतंत्र सह-अस्तित्व पर इसका प्रभाव
Shyam Sundar Subramanian
आलता-महावर
आलता-महावर
Pakhi Jain
2971.*पूर्णिका*
2971.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
■ समझदारों के लिए संकेत बहुत होता है। बशर्ते आप सच में समझदा
■ समझदारों के लिए संकेत बहुत होता है। बशर्ते आप सच में समझदा
*प्रणय प्रभात*
अंधभक्तो अगर सत्य ही हिंदुत्व ख़तरे में होता
अंधभक्तो अगर सत्य ही हिंदुत्व ख़तरे में होता
शेखर सिंह
सुरमई शाम का उजाला है
सुरमई शाम का उजाला है
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
Loading...