Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Jan 2024 · 1 min read

सवालात कितने हैं

चुभते हुए इस दिल में सवालात कितने हैं।
या’रब तेरे जहान के निगहबान कितने हैं ।।
सोचोगे ग़र कभी तो सोचा न जायेगा ।
इंसानों की इस भीड़ में इंसान कितने हैं ।।
डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
4 Likes · 76 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
उधार  ...
उधार ...
sushil sarna
आपातकाल
आपातकाल
Shekhar Chandra Mitra
पतंग
पतंग
अलका 'भारती'
*
*"मुस्कराने की वजह सिर्फ तुम्हीं हो"*
Shashi kala vyas
हायकू
हायकू
Ajay Chakwate *अजेय*
किसने तेरा साथ दिया है
किसने तेरा साथ दिया है
gurudeenverma198
सूझ बूझ
सूझ बूझ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बाल कविता: नानी की बिल्ली
बाल कविता: नानी की बिल्ली
Rajesh Kumar Arjun
मिलेट/मोटा अनाज
मिलेट/मोटा अनाज
लक्ष्मी सिंह
कर मुसाफिर सफर तू अपने जिंदगी  का,
कर मुसाफिर सफर तू अपने जिंदगी का,
Yogendra Chaturwedi
एक नासूर ये गरीबी है
एक नासूर ये गरीबी है
Dr fauzia Naseem shad
कविता
कविता
Shyam Pandey
योग
योग
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
* धरा पर खिलखिलाती *
* धरा पर खिलखिलाती *
surenderpal vaidya
कैसे कह दूं
कैसे कह दूं
Satish Srijan
*भूमिका (श्री सुंदरलाल जी: लघु महाकाव्य)*
*भूमिका (श्री सुंदरलाल जी: लघु महाकाव्य)*
Ravi Prakash
"हैसियत"
Dr. Kishan tandon kranti
कर्म-धर्म
कर्म-धर्म
चक्षिमा भारद्वाज"खुशी"
अपनेपन की रोशनी
अपनेपन की रोशनी
पूर्वार्थ
ये नोनी के दाई
ये नोनी के दाई
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
👌चोंचलेबाजी-।
👌चोंचलेबाजी-।
*Author प्रणय प्रभात*
निरोगी काया
निरोगी काया
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
सूर्य देव की अरुणिम आभा से दिव्य आलोकित है!
सूर्य देव की अरुणिम आभा से दिव्य आलोकित है!
Bodhisatva kastooriya
रंगों की सुखद फुहार
रंगों की सुखद फुहार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
कुछ तो होता है ना, जब प्यार होता है
कुछ तो होता है ना, जब प्यार होता है
Anil chobisa
एक तो गोरे-गोरे हाथ,
एक तो गोरे-गोरे हाथ,
SURYA PRAKASH SHARMA
💐प्रेम कौतुक-186💐
💐प्रेम कौतुक-186💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*हिंदी मेरे देश की जुबान है*
*हिंदी मेरे देश की जुबान है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
पेइंग गेस्ट
पेइंग गेस्ट
Dr. Pradeep Kumar Sharma
"Do You Know"
शेखर सिंह
Loading...