Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Dec 2023 · 1 min read

*सब जग में सिरमौर हमारा, तीर्थ अयोध्या धाम (गीत)*

सब जग में सिरमौर हमारा, तीर्थ अयोध्या धाम (गीत)
_________________________
सब जग में सिरमौर हमारा, तीर्थ अयोध्या धाम
1)
जहॉं विराजे रामलला हैं, मंद-मंद मुस्काते
बाल-रूप में शोभित जिनको, देख तृप्त हो जाते
करते मंगल और अमंगल, हरते तुम्हें प्रणाम
2)
जन्मभूमि है जगह अलौकिक, लगते निशि-दिन मेले
दशरथ का यह ऑंगन जिसमें, रामलला थे खेले
मनु-शतरूपा के वर से ही, कौशल्या के राम
3)
सदियों से प्यासे हृदयों की, तुम ही प्यास बुझाते
सरयू की पावन सरिता में, नहा-नहा तर जाते
कण-कण भव्य मनोरम जिसका, पुण्य प्रदाता काम
सब जग में सिरमौर हमारा, तीर्थ अयोध्या धाम
————————————
रचयिता: रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 9997615451

112 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
एक है ईश्वर
एक है ईश्वर
Dr fauzia Naseem shad
*जीवन सिखाता है लेकिन चुनौतियां पहले*
*जीवन सिखाता है लेकिन चुनौतियां पहले*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तन पर हल्की  सी धुल लग जाए,
तन पर हल्की सी धुल लग जाए,
Shutisha Rajput
प्रबुद्ध प्रणेता अटल जी
प्रबुद्ध प्रणेता अटल जी
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
चल रे घोड़े चल
चल रे घोड़े चल
Dr. Kishan tandon kranti
रात के अंधेरे के निकलते ही मशहूर हो जाऊंगा मैं,
रात के अंधेरे के निकलते ही मशहूर हो जाऊंगा मैं,
कवि दीपक बवेजा
नैन मटकका और कहीं मिलना जुलना और कहीं
नैन मटकका और कहीं मिलना जुलना और कहीं
Dushyant Kumar Patel
🍂तेरी याद आए🍂
🍂तेरी याद आए🍂
Dr Manju Saini
अगर आप सही हैं तो खुद को साबित करने के लिए ताकत क्यों लगानी
अगर आप सही हैं तो खुद को साबित करने के लिए ताकत क्यों लगानी
Seema Verma
कुछ तो पोशीदा दिल का हाल रहे
कुछ तो पोशीदा दिल का हाल रहे
Shweta Soni
Keep yourself secret
Keep yourself secret
Sakshi Tripathi
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
3051.*पूर्णिका*
3051.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
इश्क़ का कुछ अलग ही फितूर था हम पर,
इश्क़ का कुछ अलग ही फितूर था हम पर,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
*समझौता*
*समझौता*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पास है दौलत का समंदर,,,
पास है दौलत का समंदर,,,
Taj Mohammad
कभी शांत कभी नटखट
कभी शांत कभी नटखट
Neelam Sharma
प्यास
प्यास
sushil sarna
बीमार घर/ (नवगीत)
बीमार घर/ (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
*सब से महॅंगा इस समय, पुस्तक का छपवाना हुआ (मुक्तक)*
*सब से महॅंगा इस समय, पुस्तक का छपवाना हुआ (मुक्तक)*
Ravi Prakash
कोहरा और कोहरा
कोहरा और कोहरा
Ghanshyam Poddar
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
स्वयं अपने चित्रकार बनो
स्वयं अपने चित्रकार बनो
Ritu Asooja
मौत का क्या भरोसा
मौत का क्या भरोसा
Ram Krishan Rastogi
नवरात्रि के चौथे दिन देवी दुर्गा के कूष्मांडा स्वरूप की पूजा
नवरात्रि के चौथे दिन देवी दुर्गा के कूष्मांडा स्वरूप की पूजा
Shashi kala vyas
😊गर्व की बात😊
😊गर्व की बात😊
*Author प्रणय प्रभात*
स्वप्न विवेचना -ज्योतिषीय शोध लेख
स्वप्न विवेचना -ज्योतिषीय शोध लेख
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
अहं प्रत्येक क्षण स्वयं की पुष्टि चाहता है, नाम, रूप, स्थान
अहं प्रत्येक क्षण स्वयं की पुष्टि चाहता है, नाम, रूप, स्थान
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
💐अज्ञात के प्रति-4💐
💐अज्ञात के प्रति-4💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गरीबों की जिंदगी
गरीबों की जिंदगी
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
Loading...