Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Oct 2023 · 1 min read

सत्साहित्य सुरुचि उपजाता, दूर भगाता है अज्ञान।

सत्साहित्य सुरुचि उपजाता, दूर भगाता है अज्ञान।
रोग-शोक से रक्षा करता, देता मानव को पहचान।
परोपकार का पाठ पढ़ाकर, भरता हिय में नव उन्मेष,
स्वावलंबन की दिशा दिखाता, और बनाता है विद्वान।।

© महेश चन्द्र त्रिपाठी

187 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महेश चन्द्र त्रिपाठी
View all
You may also like:
“ प्रेमक बोल सँ लोक केँ जीत सकैत छी ”
“ प्रेमक बोल सँ लोक केँ जीत सकैत छी ”
DrLakshman Jha Parimal
सावन आया झूम के .....!!!
सावन आया झूम के .....!!!
Kanchan Khanna
त्याग
त्याग
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
।।श्री सत्यनारायण व्रत कथा।।प्रथम अध्याय।।
।।श्री सत्यनारायण व्रत कथा।।प्रथम अध्याय।।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Prastya...💐
Prastya...💐
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
3006.*पूर्णिका*
3006.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मिला जो इक दफा वो हर दफा मिलता नहीं यारों - डी के निवातिया
मिला जो इक दफा वो हर दफा मिलता नहीं यारों - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
प्रेम मे धोखा।
प्रेम मे धोखा।
Acharya Rama Nand Mandal
कहाॅ॑ है नूर
कहाॅ॑ है नूर
VINOD CHAUHAN
आपकी तस्वीर ( 7 of 25 )
आपकी तस्वीर ( 7 of 25 )
Kshma Urmila
बीते लम़्हे
बीते लम़्हे
Shyam Sundar Subramanian
एहसास दे मुझे
एहसास दे मुझे
Dr fauzia Naseem shad
★मृदा में मेरी आस ★
★मृदा में मेरी आस ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
एकांत
एकांत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
हर एक शक्स कहाँ ये बात समझेगा..
हर एक शक्स कहाँ ये बात समझेगा..
कवि दीपक बवेजा
मुझे वो सब दिखाई देता है ,
मुझे वो सब दिखाई देता है ,
Manoj Mahato
कैसे रखें हम कदम,आपकी महफ़िल में
कैसे रखें हम कदम,आपकी महफ़िल में
gurudeenverma198
संगीत की धुन से अनुभव महसूस होता है कि हमारे विचार व ज्ञान क
संगीत की धुन से अनुभव महसूस होता है कि हमारे विचार व ज्ञान क
Shashi kala vyas
तुम ये उम्मीद मत रखना मुझसे
तुम ये उम्मीद मत रखना मुझसे
Maroof aalam
"तितली रानी"
Dr. Kishan tandon kranti
श्री राम वंदना
श्री राम वंदना
Neeraj Mishra " नीर "
कहां बिखर जाती है
कहां बिखर जाती है
प्रकाश जुयाल 'मुकेश'
दुनियाभर में घट रही,
दुनियाभर में घट रही,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हिय  में  मेरे  बस  गये,  दशरथ - सुत   श्रीराम
हिय में मेरे बस गये, दशरथ - सुत श्रीराम
Anil Mishra Prahari
वाणी वह अस्त्र है जो आपको जीवन में उन्नति देने व अवनति देने
वाणी वह अस्त्र है जो आपको जीवन में उन्नति देने व अवनति देने
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
सद्विचार
सद्विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
*चलो टहलने चलें पार्क में, घर से सब नर-नारी【गीत】*
*चलो टहलने चलें पार्क में, घर से सब नर-नारी【गीत】*
Ravi Prakash
मैं जिससे चाहा,
मैं जिससे चाहा,
Dr. Man Mohan Krishna
Loading...