Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Feb 2017 · 1 min read

जाग्रत सूरज सदृश अच्छाँईंया, उपहार में दीं

डगर की अड़चनों ने मजबूतियाँ, उपकार में दींं |
आत्मबल की वृद्धि की पुरबाईंयाँ, मृदु प्यार में दीं|
जब लिखूँ , धक-धक करे दिल, निशारूपी कोह काँपे|
जाग्रत सूरज -सदृश अच्छाईंया, उपहार में दीं|

बृजेश कुमार नायक
“जागा हिंदुस्तान चाहिए” एवं “क्रौंच सुऋषि आलोक” कृतियों के प्रणेता

21-02-2017

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 414 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Pt. Brajesh Kumar Nayak
View all
You may also like:
नारी जागरूकता
नारी जागरूकता
Kanchan Khanna
23/177.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/177.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
रंजीत शुक्ल
रंजीत शुक्ल
Ranjeet Kumar Shukla
अपनी अपनी सोच
अपनी अपनी सोच
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
प्यार को शब्दों में ऊबारकर
प्यार को शब्दों में ऊबारकर
Rekha khichi
सपने तेरे है तो संघर्ष करना होगा
सपने तेरे है तो संघर्ष करना होगा
पूर्वार्थ
एक महिला की उमर और उसकी प्रजनन दर उसके शारीरिक बनावट से साफ
एक महिला की उमर और उसकी प्रजनन दर उसके शारीरिक बनावट से साफ
Rj Anand Prajapati
💐💐मरहम अपने जख्मों पर लगा लेते खुद ही...
💐💐मरहम अपने जख्मों पर लगा लेते खुद ही...
Priya princess panwar
मुक्तक
मुक्तक
दुष्यन्त 'बाबा'
लघुकथा कौमुदी ( समीक्षा )
लघुकथा कौमुदी ( समीक्षा )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
जब भी किसी कार्य को पूर्ण समर्पण के साथ करने के बाद भी असफलत
जब भी किसी कार्य को पूर्ण समर्पण के साथ करने के बाद भी असफलत
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
एक शाम उसके नाम
एक शाम उसके नाम
Neeraj Agarwal
ज़िंदादिली
ज़िंदादिली
Dr.S.P. Gautam
Life is proceeding at a fast rate with catalysts making it e
Life is proceeding at a fast rate with catalysts making it e
Sukoon
■ आस्था के आयाम...
■ आस्था के आयाम...
*Author प्रणय प्रभात*
सभी फैसले अपने नहीं होते,
सभी फैसले अपने नहीं होते,
शेखर सिंह
फांसी के तख्ते से
फांसी के तख्ते से
Shekhar Chandra Mitra
याद तुम्हारी......।
याद तुम्हारी......।
Awadhesh Kumar Singh
"सूप"
Dr. Kishan tandon kranti
देश के युवा करे पुकार, शिक्षित हो हमारी सरकार
देश के युवा करे पुकार, शिक्षित हो हमारी सरकार
Gouri tiwari
★गैर★
★गैर★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
Kohre ki bunde chhat chuki hai,
Kohre ki bunde chhat chuki hai,
Sakshi Tripathi
*मालिक अपना एक : पॉंच दोहे*
*मालिक अपना एक : पॉंच दोहे*
Ravi Prakash
!! प्रेम बारिश !!
!! प्रेम बारिश !!
The_dk_poetry
जिनमें कोई बात होती है ना
जिनमें कोई बात होती है ना
Ranjeet kumar patre
दस्ताने
दस्ताने
Seema gupta,Alwar
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mayank Kumar
“पतंग की डोर”
“पतंग की डोर”
DrLakshman Jha Parimal
दिल को समझाने का ही तो सारा मसला है
दिल को समझाने का ही तो सारा मसला है
shabina. Naaz
आपको हम
आपको हम
Dr fauzia Naseem shad
Loading...