Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Mar 2024 · 1 min read

सच हमारे जीवन के नक्षत्र होते हैं।

सच हमारे जीवन के नक्षत्र होते हैं।
जीवन के रंगमंच पर हम किरदार निभाते हैं

49 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तेरे हक़ में
तेरे हक़ में
Dr fauzia Naseem shad
अभिमान  करे काया का , काया काँच समान।
अभिमान करे काया का , काया काँच समान।
Anil chobisa
रमणीय प्रेयसी
रमणीय प्रेयसी
Pratibha Pandey
রাধা মানে ভালোবাসা
রাধা মানে ভালোবাসা
Arghyadeep Chakraborty
सहजता
सहजता
Sanjay ' शून्य'
"बेचारा किसान"
Dharmjay singh
2261.
2261.
Dr.Khedu Bharti
जाने क्यूँ उसको सोचकर -
जाने क्यूँ उसको सोचकर -"गुप्तरत्न" भावनाओं के समन्दर में एहसास जो दिल को छु जाएँ
गुप्तरत्न
आप जरा सा समझिए साहब
आप जरा सा समझिए साहब
शेखर सिंह
कई बात अभी बाकी है
कई बात अभी बाकी है
Aman Sinha
#जय_राष्ट्र
#जय_राष्ट्र
*Author प्रणय प्रभात*
नया है रंग, है नव वर्ष, जीना चाहता हूं।
नया है रंग, है नव वर्ष, जीना चाहता हूं।
सत्य कुमार प्रेमी
*शिक्षा-क्षेत्र की अग्रणी व्यक्तित्व शोभा नंदा जी : शत शत नमन*
*शिक्षा-क्षेत्र की अग्रणी व्यक्तित्व शोभा नंदा जी : शत शत नमन*
Ravi Prakash
अपने आलोचकों को कभी भी नजरंदाज नहीं करें। वही तो है जो आपकी
अपने आलोचकों को कभी भी नजरंदाज नहीं करें। वही तो है जो आपकी
Paras Nath Jha
भारत मां की लाज रखो तुम देश के सर का ताज बनो
भारत मां की लाज रखो तुम देश के सर का ताज बनो
कवि दीपक बवेजा
25)”हिन्दी भाषा”
25)”हिन्दी भाषा”
Sapna Arora
उजले दिन के बाद काली रात आती है
उजले दिन के बाद काली रात आती है
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
कलरव करते भोर में,
कलरव करते भोर में,
sushil sarna
वक्त हालत कुछ भी ठीक नहीं है अभी।
वक्त हालत कुछ भी ठीक नहीं है अभी।
Manoj Mahato
युद्ध नहीं अब शांति चाहिए
युद्ध नहीं अब शांति चाहिए
लक्ष्मी सिंह
यकीन
यकीन
Sidhartha Mishra
बच्चों के पिता
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
"एकता का पाठ"
Dr. Kishan tandon kranti
खिल उठेगा जब बसंत गीत गाने आयेंगे
खिल उठेगा जब बसंत गीत गाने आयेंगे
Er. Sanjay Shrivastava
पत्नी
पत्नी
Acharya Rama Nand Mandal
बहती नदी का करिश्मा देखो,
बहती नदी का करिश्मा देखो,
Buddha Prakash
समय यात्रा: मिथक या वास्तविकता?
समय यात्रा: मिथक या वास्तविकता?
Shyam Sundar Subramanian
तुम ही कहती हो न,
तुम ही कहती हो न,
पूर्वार्थ
कुत्ते की व्यथा
कुत्ते की व्यथा
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
कुण्डलिया-मणिपुर
कुण्डलिया-मणिपुर
दुष्यन्त 'बाबा'
Loading...