Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Apr 2024 · 1 min read

सच के साथ ही जीना सीखा सच के साथ ही मरना

सच के साथ ही जीना सीखा सच के साथ ही मरना
इस दुनिया में हमने यारों सीखा तो बस इतना ही सीखा
हर इंसान पर मुखौटा झूठ का हर घर डेरा झूठ का देखा
हम ही ठहरे नादान जिसने सच के सिवा कुछ ना सीखा

इंजी संजय श्रीवास्तव
बालाघाट मध्यप्रदेश।

43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from इंजी. संजय श्रीवास्तव
View all
You may also like:
[28/03, 17:02] Dr.Rambali Mishra: *पाप का घड़ा फूटता है (दोह
[28/03, 17:02] Dr.Rambali Mishra: *पाप का घड़ा फूटता है (दोह
Rambali Mishra
संपूर्णता किसी के मृत होने का प्रमाण है,
संपूर्णता किसी के मृत होने का प्रमाण है,
Pramila sultan
■आओ करें दुआएं■
■आओ करें दुआएं■
*Author प्रणय प्रभात*
*नारी कब पीछे रही, नर से लेती होड़ (कुंडलिया)*
*नारी कब पीछे रही, नर से लेती होड़ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
प्रेम उतना ही करो
प्रेम उतना ही करो
पूर्वार्थ
2331.पूर्णिका
2331.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
यह आज है वह कल था
यह आज है वह कल था
gurudeenverma198
जीवन का लक्ष्य महान
जीवन का लक्ष्य महान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
**गैरों के दिल में भी थोड़ा प्यार देना**
**गैरों के दिल में भी थोड़ा प्यार देना**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
न बदले...!
न बदले...!
Srishty Bansal
जागृति और संकल्प , जीवन के रूपांतरण का आधार
जागृति और संकल्प , जीवन के रूपांतरण का आधार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मन का डर
मन का डर
Aman Sinha
सहारे
सहारे
Kanchan Khanna
पूजा
पूजा
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
जय श्रीराम
जय श्रीराम
Indu Singh
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
Rj Anand Prajapati
विषय:- विजयी इतिहास हमारा।
विषय:- विजयी इतिहास हमारा।
Neelam Sharma
बच्चा सिर्फ बच्चा होता है
बच्चा सिर्फ बच्चा होता है
Dr. Pradeep Kumar Sharma
वर्तमान सरकारों ने पुरातन ,
वर्तमान सरकारों ने पुरातन ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
ईश्वर की महिमा...…..….. देवशयनी एकादशी
ईश्वर की महिमा...…..….. देवशयनी एकादशी
Neeraj Agarwal
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
"रिश्ते की बुनियाद"
Dr. Kishan tandon kranti
जलाने दो चराग हमे अंधेरे से अब डर लगता है
जलाने दो चराग हमे अंधेरे से अब डर लगता है
Vishal babu (vishu)
स्वयं को सुधारें
स्वयं को सुधारें
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
दिल में रह जाते हैं
दिल में रह जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
खुशबू चमन की।
खुशबू चमन की।
Taj Mohammad
दो वक्त के निवाले ने मजदूर बना दिया
दो वक्त के निवाले ने मजदूर बना दिया
VINOD CHAUHAN
*┄┅════❁ 卐ॐ卐 ❁════┅┄​*
*┄┅════❁ 卐ॐ卐 ❁════┅┄​*
Satyaveer vaishnav
लोगों के रिश्मतों में अक्सर
लोगों के रिश्मतों में अक्सर "मतलब" का वजन बहुत ज्यादा होता
Jogendar singh
सोचता हूँ रोज लिखूँ कुछ नया,
सोचता हूँ रोज लिखूँ कुछ नया,
Dr. Man Mohan Krishna
Loading...