सच का प्याला……….( निवातिया डी के )

सच का प्याला निरा कडवा लगे,
सरलता से उतरे ना कंठ के पार !
झूठ की गगरी अथाह मिष्टी भरी
स्वाद स्वाद में करे विषैला प्रहार !!

!
!
!

निवातिया डी के ______@

165 Views
You may also like:
माखन चोर
N.ksahu0007@writer
इतना शौक मत रखो इन इश्क़ की गलियों से
Krishan Singh
बहते हुए लहरों पे
Nitu Sah
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
💐प्रेम की राह पर-25💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
क्या होता है पिता
gurudeenverma198
आदर्श पिता
Sahil
याद आते हैं।
Taj Mohammad
हायकु
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
मयखाने
Vikas Sharma'Shivaaya'
भोपाल गैस काण्ड
Shriyansh Gupta
👌राम स्त्रोत👌
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"एक नई सुबह आयेगी"
पंकज कुमार "कर्ण"
*!* मेरे Idle मुन्शी प्रेमचंद *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जीवन-रथ के सारथि_पिता
मनोज कर्ण
बेपनाह गम था।
Taj Mohammad
जीने की चाहत है सीने में
Krishan Singh
पापा
सेजल गोस्वामी
*बुद्ध पूर्णिमा 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
बाबा साहेब जन्मोत्सव
Mahender Singh Hans
बूँद-बूँद को तरसा गाँव
ईश्वर दयाल गोस्वामी
फिजूल।
Taj Mohammad
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
फूलों की वर्षा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मैं धरती पर नीर हूं निर्मल, जीवन मैं ही चलाता...
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गाँव की स्थिति.....
Dr. Alpa H.
Waqt
ananya rai parashar
वेवफा प्यार
Anamika Singh
छलके जो तेरी अखियाँ....
Dr. Alpa H.
सारे द्वार खुले हैं हमारे कोई झाँके तो सही
Vivek Pandey
Loading...