Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Nov 2023 · 2 min read

संगीत का महत्व

शीर्षक – संगीत का महत्व
सच तो जीवन में हर इंसान के संगीत का महत्व है बस हम सभी जीवन में संगीत को महत्व देते हैं बस दुख या सुख दोनों में हम संगीत को महत्व देते हैं संगीत की तो महिमा अपने आप में बहुत विशाल है जिसका कोई शब्दों में आकलन नहीं कर सकता और इस कहानी के अंतर्गत यह कहानी तो हम सभी इसके पात्र हो सकते हैं जैसे हम कॉलेज के विद्यार्थी बात हो सकते हैं या हम एक ग्रहणी भी पात्र हो सकते हैं और हम सड़क पर चलते हुए रिक्शा चालक भी एक पत्र सकते हैं और हम कोई परिवहन के ड्राइवर या यात्री भी एक पत्र हो सकते हैं।
जीवन में संगीत का महत्व तो हम सभी जानते हैं बस इतना कह सकते हैं कि हम समय के साथ-साथ संगीत को सुनना पसंद कर सकते हैं या ना पसंद कर सकते हैं परंतु संगीत जीवन का महत्व रखता है शायद जीवन से संगीत अगर चला जाए तो जीवन ही बेकार हो जाए वह इसलिए क्योंकि कुदरत भी एक तरह का संगीत देती है हम सभी लोग सुबह शाम टहलने जाते तब हम देखते हैं कहीं हवा की तेज सरसराहट पानी का टपकना पानी की बूंद का गिरना पानी के झरने का बहना उसमें से भी कुछ आवाज़ आती हैं वह भी तो जीवन में कुदरत का संगीत कहलाता है और वह संगीत भी हम लोग कभी-कभी बहुत अच्छी तरह सुनते हैं कभी हम अपने ही घर में सभी लोग चाय पीते हैं बरसात के दिनों में बरसात की बूंद की आवाज टप टप कितनी मनमोहक लगती है और उसके साथ बरसात के साथ मिट्टी की सुगंध भी एक महक देती है कुदरत ने तो संगीत के साथ-साथ महक का भी इंतजाम कर रखा है बस हम सभी लोग वाद्य यंत्रों के संगीत को संगीत कहते हैं परंतु जीवन में ईश्वर ने कुदरत ने प्राकृतिक संगीत भी प्रदान किया है जिससे हम मानव जीवन को एक सुकून और शांति मिलती है।
सभी क्या सकते हैं जीवन में संगीत का एक बहुत बड़ा महत्व है जिससे जीवन में अकेलापन भी दूर कर जा सकता है अगर हम संगीत की साथ-साथ अपना जीवन जीते हैं तो शायद बहुत सी परेशानियां भी दूर हो सकती हैं जैसे अकेलापन या बेचैनी या मन का न लगना बहुत सी और भी बातें हो सकती है जो हमारे संगीत से दूर हो सकती हैं इसीलिए जीवन में संगीत का अपना एक अलग महत्व है और मानवता जीवन में तो संगीत का महत्व है हम सभी कहीं ना कहीं किसी भी तरह संगीत सुनते ही रहते हैं।
संगीत का महत्व तो जीवन के साथ और जीवन के बाद भी रहता है बस यही हकीकत है कि संगीत तो जीवन के सुख और दुख में हमेशा साथ रहता है हम सभी को बस मानवता के साथ उसकी पहचान करने की जरूरत है संगीत का महत्व जीवन में हमेशा रहता है।

नीरज अग्रवाल चंदौसी उ.प्र

Language: Hindi
194 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मैं गर्दिशे अय्याम देखता हूं।
मैं गर्दिशे अय्याम देखता हूं।
Taj Mohammad
कह्र ....
कह्र ....
sushil sarna
ये जंग जो कर्बला में बादे रसूल थी
ये जंग जो कर्बला में बादे रसूल थी
shabina. Naaz
बंदूक की गोली से,
बंदूक की गोली से,
नेताम आर सी
सफाई इस तरह कुछ मुझसे दिए जा रहे हो।
सफाई इस तरह कुछ मुझसे दिए जा रहे हो।
Manoj Mahato
तुम्हारा चश्मा
तुम्हारा चश्मा
Dr. Seema Varma
तुझे खुश देखना चाहता था
तुझे खुश देखना चाहता था
Kumar lalit
💐प्रेम कौतुक-546💐
💐प्रेम कौतुक-546💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*** नर्मदा : माँ तेरी तट पर.....!!! ***
*** नर्मदा : माँ तेरी तट पर.....!!! ***
VEDANTA PATEL
अरमान
अरमान
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
"अंकों की भाषा"
Dr. Kishan tandon kranti
■ अड़ियल टेसू सत्ता के
■ अड़ियल टेसू सत्ता के
*Author प्रणय प्रभात*
উত্তর দাও পাহাড়
উত্তর দাও পাহাড়
Arghyadeep Chakraborty
रात चाहें अंधेरों के आलम से गुजरी हो
रात चाहें अंधेरों के आलम से गुजरी हो
कवि दीपक बवेजा
"दिल का हाल सुने दिल वाला"
Pushpraj Anant
बाइस्कोप मदारी।
बाइस्कोप मदारी।
Satish Srijan
पितृ दिवस पर....
पितृ दिवस पर....
डॉ.सीमा अग्रवाल
उसे गवा दिया है
उसे गवा दिया है
Awneesh kumar
3229.*पूर्णिका*
3229.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आप सभी को महाशिवरात्रि की बहुत-बहुत हार्दिक बधाई..
आप सभी को महाशिवरात्रि की बहुत-बहुत हार्दिक बधाई..
आर.एस. 'प्रीतम'
रोटी से फूले नहीं, मानव हो या मूस
रोटी से फूले नहीं, मानव हो या मूस
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मुश्किल हालात हैं
मुश्किल हालात हैं
शेखर सिंह
*निंदिया कुछ ऐसी तू घुट्टी पिला जा*-लोरी
*निंदिया कुछ ऐसी तू घुट्टी पिला जा*-लोरी
Poonam Matia
जनैत छी हमर लिखबा सँ
जनैत छी हमर लिखबा सँ
DrLakshman Jha Parimal
"बचपन याद आ रहा"
Sandeep Kumar
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
अच्छा रहता
अच्छा रहता
Pratibha Pandey
*बहकाए हैं बिना-पढ़े जो, उनको क्या समझाओगे (हिंदी गजल/गीतिक
*बहकाए हैं बिना-पढ़े जो, उनको क्या समझाओगे (हिंदी गजल/गीतिक
Ravi Prakash
गौरवशाली भारत
गौरवशाली भारत
Shaily
बुद्ध फिर मुस्कुराए / मुसाफ़िर बैठा
बुद्ध फिर मुस्कुराए / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
Loading...