Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Feb 2023 · 1 min read

शोर जब-जब उठा इस हृदय में प्रिये !

शोर जब-जब उठा इस हृदय में प्रिये !
नीर नयना स्वत: ही बहाने लगे ।
दृश्य जब-जब प्रणय के हुए प्राणमय,
गीत में फिर तुम्हें गुनगुनाने लगे ।

✍️ अरविन्द त्रिवेदी
उन्नाव उ० प्र०

204 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Arvind trivedi
View all
You may also like:
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
3112.*पूर्णिका*
3112.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"मैं मजदूर हूँ"
Dr. Kishan tandon kranti
#धर्म
#धर्म
*प्रणय प्रभात*
Ishq ke panne par naam tera likh dia,
Ishq ke panne par naam tera likh dia,
Chinkey Jain
पत्ते बिखरे, टूटी डाली
पत्ते बिखरे, टूटी डाली
Arvind trivedi
तुम मेरे बाद भी
तुम मेरे बाद भी
Dr fauzia Naseem shad
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelofar Khan
गणेश चतुर्थी
गणेश चतुर्थी
Surinder blackpen
मन की प्रीत
मन की प्रीत
भरत कुमार सोलंकी
दिल जल रहा है
दिल जल रहा है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
जैसी नीयत, वैसी बरकत! ये सिर्फ एक लोकोक्ति ही नहीं है, ब्रह्
जैसी नीयत, वैसी बरकत! ये सिर्फ एक लोकोक्ति ही नहीं है, ब्रह्
विमला महरिया मौज
मानव पहले जान ले,तू जीवन  का सार
मानव पहले जान ले,तू जीवन का सार
Dr Archana Gupta
हार से भी जीत जाना सीख ले।
हार से भी जीत जाना सीख ले।
सत्य कुमार प्रेमी
ढूंढें .....!
ढूंढें .....!
Sangeeta Beniwal
याद तुम्हारी......।
याद तुम्हारी......।
Awadhesh Kumar Singh
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
द्वारिका गमन
द्वारिका गमन
Rekha Drolia
Bundeli Doha pratiyogita-149th -kujane
Bundeli Doha pratiyogita-149th -kujane
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अनमोल वचन
अनमोल वचन
Jitendra Chhonkar
आज मैं एक नया गीत लिखता हूँ।
आज मैं एक नया गीत लिखता हूँ।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ब्यूटी विद ब्रेन
ब्यूटी विद ब्रेन
Shekhar Chandra Mitra
दोपहर जल रही है सड़कों पर
दोपहर जल रही है सड़कों पर
Shweta Soni
सिय का जन्म उदार / माता सीता को समर्पित नवगीत
सिय का जन्म उदार / माता सीता को समर्पित नवगीत
ईश्वर दयाल गोस्वामी
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा "वास्तविकता रूह को सुकून देती है"
Rahul Singh
सुकर्म से ...
सुकर्म से ...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
पल भर कि मुलाकात
पल भर कि मुलाकात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
तुम्हारा जिक्र
तुम्हारा जिक्र
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Loading...