Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Feb 2017 · 1 min read

शोख़ियों में घुली शबनम…

शोख़ियों में घुली शबनम,
थोड़ी मासूम, थोड़ी नर्म,
कभी चहकती,
कभी बहकती,
याद जो आये बार बार,
बस प्यार, हाँ प्यार!
फूलों सी कमसिन जवानी लिये,
शराब की सी रवानी लिये,
हर कोने और ज़र्रे में छुपा प्यार हमारा,
अरमानों का चमचमाता सितारा।

दिन बचपने के,
दिल मनचले से,
तेरे आग़ोश में पिघलने की चाह,
कभी मुस्कान शर्मिली, कभी एक आह,
बाग़ों में, राहों में,
हर कूचे और गलियारों में,
चुपके से झाँकता हमारा प्यार,
गलबहियों के डाले हार।

यादों की शहनाई की धुन,
तू भी तो ज़रा सुन,
तेरे बग़ैर ये सुनापन, ये तन्हाई,
हर कदम तेरी यादें ही चली आईं हैं,
बन बैठी इक ख़ुमारी,
यादें तेरी प्यारी,
सुध बुध सब हारी,
प्यार पर सब वारी ,
जैसे शोख़ियों में घुली शबनम,
थोड़ी मासूम, थोड़ी नर्म।।

©मधुमिता

Language: Hindi
161 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
छत्तीसगढ़ रत्न (जीवनी पुस्तक)
छत्तीसगढ़ रत्न (जीवनी पुस्तक)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
गुप्तरत्न
जीवन अपना
जीवन अपना
Dr fauzia Naseem shad
नफ़रत कि आग में यहां, सब लोग जल रहे,
नफ़रत कि आग में यहां, सब लोग जल रहे,
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
हूं बहारों का मौसम
हूं बहारों का मौसम
साहित्य गौरव
अल्फाज़
अल्फाज़
हिमांशु Kulshrestha
अक़ीदत से भरे इबादत के 30 दिनों के बाद मिले मसर्रत भरे मुक़द्द
अक़ीदत से भरे इबादत के 30 दिनों के बाद मिले मसर्रत भरे मुक़द्द
*Author प्रणय प्रभात*
सत्य ही सनाान है , सार्वभौमिक
सत्य ही सनाान है , सार्वभौमिक
Leena Anand
शे’र/ MUSAFIR BAITHA
शे’र/ MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
रमेशराज के दो लोकगीत –
रमेशराज के दो लोकगीत –
कवि रमेशराज
राधा अब्बो से हां कर दअ...
राधा अब्बो से हां कर दअ...
Shekhar Chandra Mitra
"शब्दों की सार्थकता"
Dr. Kishan tandon kranti
.
.
Ms.Ankit Halke jha
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मेरी बेटी है, मेरा वारिस।
मेरी बेटी है, मेरा वारिस।
लक्ष्मी सिंह
बचपन याद बहुत आता है
बचपन याद बहुत आता है
VINOD CHAUHAN
हम्मीर देव चौहान
हम्मीर देव चौहान
Ajay Shekhavat
পৃথিবীর সবচেয়ে সুন্দর মেয়েদের
পৃথিবীর সবচেয়ে সুন্দর মেয়েদের
Sakhawat Jisan
अपनी हसरत अपने दिल में दबा कर रखो
अपनी हसरत अपने दिल में दबा कर रखो
पूर्वार्थ
सत्याधार का अवसान
सत्याधार का अवसान
Shyam Sundar Subramanian
Khuch rishte kbhi bhulaya nhi karte ,
Khuch rishte kbhi bhulaya nhi karte ,
Sakshi Tripathi
*सुकुं का झरना*... ( 19 of 25 )
*सुकुं का झरना*... ( 19 of 25 )
Kshma Urmila
रखा जाता तो खुद ही रख लेते...
रखा जाता तो खुद ही रख लेते...
कवि दीपक बवेजा
**विकास**
**विकास**
Awadhesh Kumar Singh
"किसान"
Slok maurya "umang"
प्यारी मां
प्यारी मां
Mukesh Kumar Sonkar
रावण का परामर्श
रावण का परामर्श
Dr. Harvinder Singh Bakshi
*बारिश आई (बाल कविता)*
*बारिश आई (बाल कविता)*
Ravi Prakash
नहीं है प्रेम जीवन में
नहीं है प्रेम जीवन में
आनंद प्रवीण
2695.*पूर्णिका*
2695.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Loading...