Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jan 2023 · 1 min read

शेर

मासूम जिंदगी के अरमान बहुत हैं.
हमदर्द नहीं कोई इंसान बहुत हैं।

खुदगर्जी में इंसानियत भी खो गई कहीं।
चंद दिन की जिंदगी है अरमान बहुत हैं

Language: Hindi
177 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सत्य
सत्य
Dr.Pratibha Prakash
23/114.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/114.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
प्यार के
प्यार के
हिमांशु Kulshrestha
कमियाॅं अपनों में नहीं
कमियाॅं अपनों में नहीं
Harminder Kaur
*बात-बात में बात (दस दोहे)*
*बात-बात में बात (दस दोहे)*
Ravi Prakash
धोखा था ये आंख का
धोखा था ये आंख का
RAMESH SHARMA
■ सकारात्मक तिथि विश्लेषण।।
■ सकारात्मक तिथि विश्लेषण।।
*Author प्रणय प्रभात*
शिशुपाल वध
शिशुपाल वध
SHAILESH MOHAN
"ये कैसा जमाना"
Dr. Kishan tandon kranti
आस्था स्वयं के विनाश का कारण होती है
आस्था स्वयं के विनाश का कारण होती है
प्रेमदास वसु सुरेखा
" छोटा सिक्का"
Dr Meenu Poonia
💤 ये दोहरा सा किरदार 💤
💤 ये दोहरा सा किरदार 💤
Dr Manju Saini
एक दिन में इस कदर इस दुनिया में छा जाऊंगा,
एक दिन में इस कदर इस दुनिया में छा जाऊंगा,
कवि दीपक बवेजा
हमको बच्चा रहने दो।
हमको बच्चा रहने दो।
Manju Singh
मत याद करो बीते पल को
मत याद करो बीते पल को
Surya Barman
जो न कभी करते हैं क्रंदन, भले भोगते भोग
जो न कभी करते हैं क्रंदन, भले भोगते भोग
महेश चन्द्र त्रिपाठी
मुक्तक।
मुक्तक।
Pankaj sharma Tarun
💐प्रेम कौतुक-320💐
💐प्रेम कौतुक-320💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तुम्हारी छवि...
तुम्हारी छवि...
उमर त्रिपाठी
वेला
वेला
Sangeeta Beniwal
जहाँ तक राजनीति विचारधारा का संबंध है यदि वो सटीक ,तर्कसंगत
जहाँ तक राजनीति विचारधारा का संबंध है यदि वो सटीक ,तर्कसंगत
DrLakshman Jha Parimal
जिंदगी का सवाल आया है।
जिंदगी का सवाल आया है।
Dr fauzia Naseem shad
मैं तुम्हें लिखता रहूंगा
मैं तुम्हें लिखता रहूंगा
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
पयोनिधि नेह में घोली, मधुर सुर साज है हिंदी।
पयोनिधि नेह में घोली, मधुर सुर साज है हिंदी।
Neelam Sharma
मन और मस्तिष्क
मन और मस्तिष्क
Dhriti Mishra
तुम्हारी खुशी में मेरी दुनिया बसती है
तुम्हारी खुशी में मेरी दुनिया बसती है
Awneesh kumar
लाख दुआएं दूंगा मैं अब टूटे दिल से
लाख दुआएं दूंगा मैं अब टूटे दिल से
Shivkumar Bilagrami
यादों में
यादों में
Shweta Soni
सिर्फ दरवाजे पे शुभ लाभ,
सिर्फ दरवाजे पे शुभ लाभ,
नेताम आर सी
दिखाना ज़रूरी नहीं
दिखाना ज़रूरी नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...