Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Aug 2016 · 1 min read

शेर

बाँट सकूं गम तुम्हारे बस इतनी सी तमन्ना है!
खुशियों में गर शामिल न करो तो कोई गम नहीं है!!!

रहते हैं संग-संग बहते हैं संग- संग,फिर भी जाने क्यों है दूरियां इतनी!
यूंही चलते-चलते उम्र भर कभी मिल नहीं पाते,जाने कैसे वो दो किनारे हैं!!!

मेरे उसूल मुझे अकसर रूला देते हैं !
कोई शक्ति है जो उन पर चलने की हिम्मत दे जाती है!!!
कामनी गुप्ता ***

Language: Hindi
Tag: शेर
1 Like · 571 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*आदत बदल डालो*
*आदत बदल डालो*
Dushyant Kumar
"तहजीब"
Dr. Kishan tandon kranti
*तन्हाँ तन्हाँ  मन भटकता है*
*तन्हाँ तन्हाँ मन भटकता है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
कदमों में बिखर जाए।
कदमों में बिखर जाए।
लक्ष्मी सिंह
सत्य उस तीखी औषधि के समान होता है जो तुरंत तो कष्ट कारी लगती
सत्य उस तीखी औषधि के समान होता है जो तुरंत तो कष्ट कारी लगती
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
बीन अधीन फणीश।
बीन अधीन फणीश।
Neelam Sharma
जरूरत पड़ने पर बहाना और बुरे वक्त में ताना,
जरूरत पड़ने पर बहाना और बुरे वक्त में ताना,
Ranjeet kumar patre
मनमीत मेरे तुम हो
मनमीत मेरे तुम हो
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
#महाकाल_लोक
#महाकाल_लोक
*प्रणय प्रभात*
कैसी यह मुहब्बत है
कैसी यह मुहब्बत है
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
2320.पूर्णिका
2320.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
बातों का तो मत पूछो
बातों का तो मत पूछो
Rashmi Ranjan
*हनुमान के राम*
*हनुमान के राम*
Kavita Chouhan
योग
योग
जगदीश शर्मा सहज
श्रीराम अयोध्या में पुनर्स्थापित हो रहे हैं, क्या खोई हुई मर
श्रीराम अयोध्या में पुनर्स्थापित हो रहे हैं, क्या खोई हुई मर
Sanjay ' शून्य'
अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद
अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नानखटाई( बाल कविता )
नानखटाई( बाल कविता )
Ravi Prakash
बरसात
बरसात
surenderpal vaidya
नौकरी (२)
नौकरी (२)
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
रंजीत शुक्ल
रंजीत शुक्ल
Ranjeet Kumar Shukla
आदमी और मच्छर
आदमी और मच्छर
Kanchan Khanna
दर्द भी
दर्द भी
Dr fauzia Naseem shad
सावन में तुम आओ पिया.............
सावन में तुम आओ पिया.............
Awadhesh Kumar Singh
जब दिल टूटता है
जब दिल टूटता है
VINOD CHAUHAN
अरे...
अरे...
पूर्वार्थ
सनम
सनम
Satish Srijan
समरथ को नही दोष गोसाई
समरथ को नही दोष गोसाई
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हमारा चंद्रयान थ्री
हमारा चंद्रयान थ्री
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
विद्या देती है विनय, शुद्ध  सुघर व्यवहार ।
विद्या देती है विनय, शुद्ध सुघर व्यवहार ।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
*अपना भारत*
*अपना भारत*
मनोज कर्ण
Loading...