Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 May 2022 · 1 min read

शून्य से अनन्त

मैं आर्यभट्ट की खोज हू , अंत मेरा काम है
मैं गणित से आई हूं, शून्य मेरा नाम है
मुझमे ही तो शिव समाया , शिव में पूरा ब्रमांड है
मैं गणित से आई हूं, शून्य मेरा नाम है
“शून्य” में न मिल तू जो शून्य तेरा अंत हो
“शून्य” पर चल तू ताकि हौसले बुलंद हो

यदि “शून्य” पर सवार होके
गर “शून्य” फिर से तू बना
तेरा रूप अनिर्धाय होगा
निर्धारित तुझे न कोई कर सकेगा

यदि “शून्य” पे सवार होके
गर “शून्य” से आगे रहा
तो फिर न तेरा अंत होगा
फिर तो तू “अनन्त” होगा
जग में तेरा नाम होगा
चारो ओऱ प्रकाश होगा

पर एक बात तू याद रखना
“शून्य” से न फिर उलझना
“शून्य” ही तो अंत है
“शून्य” ही शरुआत है
मैं गणित से आई हूं, शून्य मेरा नाम है

The_dk_poetry
the dk poetry

2 Likes · 2 Comments · 1000 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"" *प्रेमलता* "" ( *मेरी माँ* )
सुनीलानंद महंत
मुरझाए चेहरे फिर खिलेंगे, तू वक्त तो दे उसे
मुरझाए चेहरे फिर खिलेंगे, तू वक्त तो दे उसे
Chandra Kanta Shaw
2554.पूर्णिका
2554.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
जन्मदिन विशेष : अशोक जयंती
जन्मदिन विशेष : अशोक जयंती
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
सावन बीत गया
सावन बीत गया
Suryakant Dwivedi
संवाद होना चाहिए
संवाद होना चाहिए
संजय कुमार संजू
मोबाइल
मोबाइल
लक्ष्मी सिंह
जीवन की सबसे बड़ी त्रासदी
जीवन की सबसे बड़ी त्रासदी
ruby kumari
संभावना
संभावना
Ajay Mishra
पेट्रोल लोन के साथ मुफ्त कार का ऑफर (व्यंग्य कहानी)
पेट्रोल लोन के साथ मुफ्त कार का ऑफर (व्यंग्य कहानी)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
आइए जनाब
आइए जनाब
Surinder blackpen
नेता जब से बोलने लगे सच
नेता जब से बोलने लगे सच
Dhirendra Singh
भूखे भेड़िये हैं वो,
भूखे भेड़िये हैं वो,
Maroof aalam
फ़र्क़..
फ़र्क़..
Rekha Drolia
तेरा-मेरा साथ, जीवनभर का ...
तेरा-मेरा साथ, जीवनभर का ...
Sunil Suman
चांद शेर
चांद शेर
Bodhisatva kastooriya
Sometimes you have to
Sometimes you have to
Prachi Verma
कुछ रिश्तो में हम केवल ..जरूरत होते हैं जरूरी नहीं..! अपनी अ
कुछ रिश्तो में हम केवल ..जरूरत होते हैं जरूरी नहीं..! अपनी अ
पूर्वार्थ
दीवाली
दीवाली
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
"प्यासा कुआँ"
Dr. Kishan tandon kranti
कॉलेज वाला प्यार
कॉलेज वाला प्यार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"संवाद "
DrLakshman Jha Parimal
ख्वाहिश
ख्वाहिश
Neelam Sharma
एक बछड़े को देखकर
एक बछड़े को देखकर
Punam Pande
कोई दुनिया में कहीं भी मेरा, नहीं लगता
कोई दुनिया में कहीं भी मेरा, नहीं लगता
Shweta Soni
#तेवरी / #देसी_ग़ज़ल
#तेवरी / #देसी_ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
मन की डोर
मन की डोर
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
बोलो!... क्या मैं बोलूं...
बोलो!... क्या मैं बोलूं...
Santosh Soni
* मुस्कुरा देना *
* मुस्कुरा देना *
surenderpal vaidya
तुमसे बेहद प्यार करता हूँ
तुमसे बेहद प्यार करता हूँ
हिमांशु Kulshrestha
Loading...