Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Dec 2022 · 1 min read

शुक्र है

मुझे यूं उदास ये सब पढ़ते देख परेशान हैं सब।
शुक्र है किसी ने मुझे ये सब लिखते नहीं देखा।

-मोहन

3 Likes · 3 Comments · 92 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बदली बारिश बुंद से
बदली बारिश बुंद से
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
खुशकिस्मत है कि तू उस परमात्मा की कृति है
खुशकिस्मत है कि तू उस परमात्मा की कृति है
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
#तुम्हारा अभागा
#तुम्हारा अभागा
Amulyaa Ratan
💐प्रेम कौतुक-329💐
💐प्रेम कौतुक-329💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"कुछ अनकही"
Ekta chitrangini
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
*संघर्ष जीवन का सदा पर्यायवाची है (मुक्तक)*
*संघर्ष जीवन का सदा पर्यायवाची है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
युवा दिवस विवेकानंद जयंती
युवा दिवस विवेकानंद जयंती
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
सिर्फ तुम
सिर्फ तुम
Arti Bhadauria
कब तक
कब तक
Surinder blackpen
हम ये कैसा मलाल कर बैठे
हम ये कैसा मलाल कर बैठे
Dr fauzia Naseem shad
दिव्य-दोहे
दिव्य-दोहे
Ramswaroop Dinkar
खुशियों की आँसू वाली सौगात
खुशियों की आँसू वाली सौगात
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अहंकार और आत्मगौरव
अहंकार और आत्मगौरव
कुमार
‌‌‍ॠतुराज बसंत
‌‌‍ॠतुराज बसंत
Rahul Singh
2629.पूर्णिका
2629.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
इक क़तरा की आस है
इक क़तरा की आस है
kumar Deepak "Mani"
सुबह का भूला
सुबह का भूला
Dr. Pradeep Kumar Sharma
प्रणय
प्रणय
Neelam Sharma
सफर में हमसफ़र
सफर में हमसफ़र
Atul "Krishn"
कोई...💔
कोई...💔
Srishty Bansal
"जेब्रा"
Dr. Kishan tandon kranti
रिश्तों में परीवार
रिश्तों में परीवार
Anil chobisa
मेरी है बड़ाई नहीं
मेरी है बड़ाई नहीं
Satish Srijan
"ताले चाबी सा रखो,
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
प्रेम
प्रेम
Prakash Chandra
गरीबों की जिंदगी
गरीबों की जिंदगी
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
SCHOOL..
SCHOOL..
Shubham Pandey (S P)
उसकी रहमत से खिलें, बंजर में भी फूल।
उसकी रहमत से खिलें, बंजर में भी फूल।
डॉ.सीमा अग्रवाल
रमेशराज के 2 मुक्तक
रमेशराज के 2 मुक्तक
कवि रमेशराज
Loading...