Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jan 2017 · 1 min read

शिक्षक देश के निर्माता

कहते हैं,जो राष्ट्र अपने देश के शिक्षकों का सम्मान करता है|
उसका भविष्य सदैव उज्ज्वल रहता है|
ज्ञान हमें शक्ति देता है|
प्रेम हमें परिपूर्णता देता है|
पुस्तके वह साधन है,
जिसके माध्यम से हम,
विभिन्न संस्कृतियों के बीच,
पुल का निर्माण कर सकते हैं|
एक शिक्षक के लिए सफलता का सबसे बड़ा संकेत…. यह कह पाना है कि “बच्चे अब ऐसे काम कर रहे हैं जैसे कि मेरा कोई अस्तित्व ही न रहा हो|”

हे शिक्षक तुम्हें नमन!
महान हो तुम,गुणवान हो तुम|
ज्ञान की सदा से खान हो तुम|
जल से निर्मल,पुष्प से कोमल|
शिष्यों के भाग्य विधाता हो तुम| नदियों से पावन, पर्वत से ऊंचे|
सूरज जैसे तेजवान हो तुम|
सागर से गंभीर,हृदय से कोमल|
ज्ञान की गंगा का सागर हो तुम|
इस जग में तुम सा कोई नहीं,
संपूर्णता का वरदान हो तुम|
हे शिक्षक! तुम्हें नमन
महान हो तुम,गुणवान हो तुम|

Language: Hindi
303 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
3191.*पूर्णिका*
3191.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
केहिकी करैं बुराई भइया,
केहिकी करैं बुराई भइया,
Kaushal Kumar Pandey आस
आयी प्यारी तीज है,झूलें मिलकर साथ
आयी प्यारी तीज है,झूलें मिलकर साथ
Dr Archana Gupta
सदा किया संघर्ष सरहद पर,विजयी इतिहास हमारा।
सदा किया संघर्ष सरहद पर,विजयी इतिहास हमारा।
Neelam Sharma
आज बहुत दिनों के बाद आपके साथ
आज बहुत दिनों के बाद आपके साथ
डा गजैसिह कर्दम
मेरे दिल से उसकी हर गलती माफ़ हो जाती है,
मेरे दिल से उसकी हर गलती माफ़ हो जाती है,
Vishal babu (vishu)
ज़िंदगी
ज़िंदगी
Dr fauzia Naseem shad
आकांक्षा तारे टिमटिमाते ( उल्का )
आकांक्षा तारे टिमटिमाते ( उल्का )
goutam shaw
हमेशा सच बोलने का इक तरीका यह भी है कि
हमेशा सच बोलने का इक तरीका यह भी है कि
Aarti sirsat
करो पढ़ाई
करो पढ़ाई
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ख़ुदा ने बख़्शी हैं वो ख़ूबियाँ के
ख़ुदा ने बख़्शी हैं वो ख़ूबियाँ के
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
प्राण- प्रतिष्ठा
प्राण- प्रतिष्ठा
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
परिवार होना चाहिए
परिवार होना चाहिए
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Anu dubey
पते की बात - दीपक नीलपदम्
पते की बात - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
9. पोंथी का मद
9. पोंथी का मद
Rajeev Dutta
गांधीजी की नीतियों के विरोधी थे ‘ सुभाष ’
गांधीजी की नीतियों के विरोधी थे ‘ सुभाष ’
कवि रमेशराज
ਕੋਈ ਨਾ ਕੋਈ #ਖ਼ਾਮੀ ਤਾਂ
ਕੋਈ ਨਾ ਕੋਈ #ਖ਼ਾਮੀ ਤਾਂ
Surinder blackpen
😢नारकीय जीवन😢
😢नारकीय जीवन😢
*Author प्रणय प्रभात*
ये कैसा घर है. . .
ये कैसा घर है. . .
sushil sarna
.........?
.........?
शेखर सिंह
गर्व की बात
गर्व की बात
Er. Sanjay Shrivastava
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
गुप्तरत्न
उनकी ख्यालों की बारिश का भी,
उनकी ख्यालों की बारिश का भी,
manjula chauhan
छत्रपति शिवाजी महाराज की समुद्री लड़ाई
छत्रपति शिवाजी महाराज की समुद्री लड़ाई
Pravesh Shinde
*नासमझ*
*नासमझ*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Try to find .....
Try to find .....
पूर्वार्थ
फूल को,कलियों को,तोड़ना पड़ा
फूल को,कलियों को,तोड़ना पड़ा
कवि दीपक बवेजा
अगले बरस जल्दी आना
अगले बरस जल्दी आना
Kavita Chouhan
Loading...