Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Nov 2022 · 1 min read

शायरी

गोरा बदन नशीली आँखे, हिरनी जैसी चाल l
प्रीत पड़ोसी से ना करियो, भोरई होवे रार ll

Language: Hindi
Tag: शेर
2 Likes · 350 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कोशिश है खुद से बेहतर बनने की
कोशिश है खुद से बेहतर बनने की
Ansh Srivastava
मंगल दीप जलाओ रे
मंगल दीप जलाओ रे
नेताम आर सी
कितने पन्ने
कितने पन्ने
Satish Srijan
मैं दौड़ता रहा तमाम उम्र
मैं दौड़ता रहा तमाम उम्र
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मेरे दिल मे रहा जुबान पर आया नहीं....!
मेरे दिल मे रहा जुबान पर आया नहीं....!
Deepak Baweja
*मेरी इच्छा*
*मेरी इच्छा*
Dushyant Kumar
सीसे में चित्र की जगह चरित्र दिख जाए तो लोग आइना देखना बंद क
सीसे में चित्र की जगह चरित्र दिख जाए तो लोग आइना देखना बंद क
Lokesh Sharma
प्यार की चंद पन्नों की किताब में
प्यार की चंद पन्नों की किताब में
Mangilal 713
रमणीय प्रेयसी
रमणीय प्रेयसी
Pratibha Pandey
स्टेटस
स्टेटस
Dr. Pradeep Kumar Sharma
चार दिन की ज़िंदगी
चार दिन की ज़िंदगी
कार्तिक नितिन शर्मा
फूल फूल और फूल
फूल फूल और फूल
SATPAL CHAUHAN
सब कुछ मिले संभव नहीं
सब कुछ मिले संभव नहीं
Dr. Rajeev Jain
घाट किनारे है गीत पुकारे, आजा रे ऐ मीत हमारे…
घाट किनारे है गीत पुकारे, आजा रे ऐ मीत हमारे…
Anand Kumar
विडम्बना और समझना
विडम्बना और समझना
Seema gupta,Alwar
संसद के नए भवन से
संसद के नए भवन से
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सबक
सबक
manjula chauhan
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Drapetomania
Drapetomania
Vedha Singh
राम राम
राम राम
Sonit Parjapati
"जिसका जैसा नजरिया"
Dr. Kishan tandon kranti
चन्द्रयान अभियान
चन्द्रयान अभियान
surenderpal vaidya
कुछ खामोशियाँ तुम ले आना।
कुछ खामोशियाँ तुम ले आना।
Manisha Manjari
तस्वीर
तस्वीर
Dr. Mahesh Kumawat
ऐ मां वो गुज़रा जमाना याद आता है।
ऐ मां वो गुज़रा जमाना याद आता है।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
नानी का घर (बाल कविता)
नानी का घर (बाल कविता)
Ravi Prakash
खुद को खोने लगा जब कोई मुझ सा होने लगा।
खुद को खोने लगा जब कोई मुझ सा होने लगा।
शिव प्रताप लोधी
आज़ादी के बाद भारत में हुए 5 सबसे बड़े भीषण रेल दुर्घटना
आज़ादी के बाद भारत में हुए 5 सबसे बड़े भीषण रेल दुर्घटना
Shakil Alam
जल से सीखें
जल से सीखें
Saraswati Bajpai
आत्मघाती हमला
आत्मघाती हमला
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
Loading...