Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jul 2023 · 1 min read

सेल्फी जेनेरेशन

सेल्फी जेनेरेशन
सावन का महीना था। केसरिया रंग के झण्डे, केसरिया परिधान, कंधे पर काँवर लिए शिव भक्तों का हुजूम चला जा रहा था। ‘बोल बम’ और ‘हर-हर महादेव’ के नारों से आकाश गूँज रहा था। काँवर ढोने वाले शिवभक्त हर बात का जवाब ‘बम’ जोड़कर दे रहे थे।
सड़क किनारे शंकर बाबा एकत्रित सूखी लकड़ियों का गट्ठर उठाने का प्रयास कर रहे थे। उनकी जर्जर काया और गट्ठर का भारी वजन उनके इस प्रयास को बार-बार विफल कर रहे थे।
शंकर बाबा ने काँवरियों को आशा भरी नजरों से देखा। एक दो बार सहायता के लिए आवाज भी दी कुछ भक्त पास आए भी और साइड से शंकर बाबा के साथ सेल्फी लेकर ‘थैंक यू’, ‘हर-हर महादेव’ और ‘बोल बम’ बोल कर चले गए।
डाॅ. प्रदीप कुमार शर्मा
रायपुर, छत्तीसगढ़

Language: Hindi
138 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
राम आए हैं भाई रे
राम आए हैं भाई रे
Harinarayan Tanha
ईमान
ईमान
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
निर्णय लेने में
निर्णय लेने में
Dr fauzia Naseem shad
अब तो उठ जाओ, जगाने वाले आए हैं।
अब तो उठ जाओ, जगाने वाले आए हैं।
नेताम आर सी
कविता ही हो /
कविता ही हो /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
खुद से ही बातें कर लेता हूं , तुम्हारी
खुद से ही बातें कर लेता हूं , तुम्हारी
श्याम सिंह बिष्ट
डमरू वीणा बांसुरी, करतल घन्टी शंख
डमरू वीणा बांसुरी, करतल घन्टी शंख
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
इतनी भी तकलीफ ना दो हमें ....
इतनी भी तकलीफ ना दो हमें ....
Umender kumar
वक्त आने पर सबको दूंगा जवाब जरूर क्योंकि हर एक के ताने मैंने
वक्त आने पर सबको दूंगा जवाब जरूर क्योंकि हर एक के ताने मैंने
Ranjeet kumar patre
"रिश्ता" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐प्रेम कौतुक-280💐
💐प्रेम कौतुक-280💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आईना मुझसे मेरी पहली सी सूरत  माँगे ।
आईना मुझसे मेरी पहली सी सूरत माँगे ।
Neelam Sharma
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
Writer_ermkumar
*बिरहा की रात*
*बिरहा की रात*
Pushpraj Anant
बावरी
बावरी
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
प्रकृति
प्रकृति
Sûrëkhâ Rãthí
पिता !
पिता !
Kuldeep mishra (KD)
जिसने भी तुमको देखा है पहली बार ..
जिसने भी तुमको देखा है पहली बार ..
Tarun Garg
गुलामी के कारण
गुलामी के कारण
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
"चाहत का सफर"
Dr. Kishan tandon kranti
***
*** " चौराहे पर...!!! "
VEDANTA PATEL
*अवध  में  प्रभु  राम  पधारें है*
*अवध में प्रभु राम पधारें है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मक्खनबाजी में सदा , रहो बंधु निष्णात (कुंडलिया)
मक्खनबाजी में सदा , रहो बंधु निष्णात (कुंडलिया)
Ravi Prakash
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मन मेरा मेरे पास नहीं
मन मेरा मेरे पास नहीं
Pratibha Pandey
बदलते रिश्ते
बदलते रिश्ते
Sanjay ' शून्य'
3224.*पूर्णिका*
3224.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नेता सोये चैन से,
नेता सोये चैन से,
sushil sarna
Loading...