Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2023 · 1 min read

शब्द उनके बहुत नुकीले हैं

शब्द उनके बहुत नुकीले हैं
ज़ख़्म जिनसे हमारे छीले हैं
बात ऐसी लगी है इस दिल को
आज तक नैन अपने गीले हैं

डॉ अर्चना गुप्ता

3 Likes · 200 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
बदलती जिंदगी की राहें
बदलती जिंदगी की राहें
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
नए साल की नई सुबह पर,
नए साल की नई सुबह पर,
Anamika Singh
सवर्ण पितृसत्ता, सवर्ण सत्ता और धर्मसत्ता के विरोध के बिना क
सवर्ण पितृसत्ता, सवर्ण सत्ता और धर्मसत्ता के विरोध के बिना क
Dr MusafiR BaithA
ये जंग जो कर्बला में बादे रसूल थी
ये जंग जो कर्बला में बादे रसूल थी
shabina. Naaz
Rebel
Rebel
Shekhar Chandra Mitra
जितनी मेहनत
जितनी मेहनत
Shweta Soni
ये बेटा तेरा मर जाएगा
ये बेटा तेरा मर जाएगा
Basant Bhagawan Roy
মানুষ হয়ে যাও !
মানুষ হয়ে যাও !
Ahtesham Ahmad
लोग जीते जी भी तो
लोग जीते जी भी तो
Dr fauzia Naseem shad
"तारीफ़"
Dr. Kishan tandon kranti
मन बड़ा घबराता है
मन बड़ा घबराता है
Harminder Kaur
*दिल का दर्द*
*दिल का दर्द*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*नारी कब पीछे रही, नर से लेती होड़ (कुंडलिया)*
*नारी कब पीछे रही, नर से लेती होड़ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
राहों में
राहों में
हिमांशु Kulshrestha
सूरज नहीं थकता है
सूरज नहीं थकता है
Ghanshyam Poddar
संसार एक जाल
संसार एक जाल
Mukesh Kumar Sonkar
दुआ सलाम
दुआ सलाम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
प्रेम का वक़ात
प्रेम का वक़ात
भरत कुमार सोलंकी
😊 लघुकथा :--
😊 लघुकथा :--
*प्रणय प्रभात*
वो कैसा दौर था,ये कैसा दौर है
वो कैसा दौर था,ये कैसा दौर है
Keshav kishor Kumar
किताबें पूछती है
किताबें पूछती है
Surinder blackpen
बीते लम़्हे
बीते लम़्हे
Shyam Sundar Subramanian
तंग जिंदगी
तंग जिंदगी
लक्ष्मी सिंह
3258.*पूर्णिका*
3258.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
✍️फिर वही आ गये...
✍️फिर वही आ गये...
'अशांत' शेखर
आओ जाओ मेरी बाहों में,कुछ लम्हों के लिए
आओ जाओ मेरी बाहों में,कुछ लम्हों के लिए
Ram Krishan Rastogi
गरीब–किसान
गरीब–किसान
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
अफसोस मुझको भी बदलना पड़ा जमाने के साथ
अफसोस मुझको भी बदलना पड़ा जमाने के साथ
gurudeenverma198
प्यार ना सही पर कुछ तो था तेरे मेरे दरमियान,
प्यार ना सही पर कुछ तो था तेरे मेरे दरमियान,
Vishal babu (vishu)
प्रश्न - दीपक नीलपदम्
प्रश्न - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Loading...