Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Sep 2023 · 1 min read

शकुनियों ने फैलाया अफवाहों का धुंध

एक का है उजला बदन
दूसरे का बिल्कुल स्याह
पहले को सत्य कहे जग
दूजे को मानता अफवाह
सुगम, सहज सबके लिए
सदा जग में सत्य की राह
जो इसका अवलंबन करे
वो सबसे बड़ा शहंशाह
सत्य को विचलित नहीं
कर सके आंधी या तूफां
हर परिस्थिति में एक सा
रहा उसका नाम निशान
जिन तथ्यों में सत्य का
सर्वथा होता है अभाव
जगत उसे ही मानता है
सदा थोथा या अफवाह
सियासत के शकुनियों ने
फैलाया अफवाहों का धुंध
ताकि वो समाज को बांटके
कर सकें मनमानी स्वच्छंद
जागरूक नागरिक बनकर
कीजै सत्य का सदा प्रचार
अपुष्ट तथ्यों को दोनों हाथ
जोड़ कीजै दूर से नमस्कार

Language: Hindi
91 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दुनिया कैसी है मैं अच्छे से जानता हूं
दुनिया कैसी है मैं अच्छे से जानता हूं
Ranjeet kumar patre
हाँ मैं नारी हूँ
हाँ मैं नारी हूँ
Surya Barman
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Dr. Sunita Singh
सर्द मौसम में तेरी गुनगुनी याद
सर्द मौसम में तेरी गुनगुनी याद
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
तुम चंद्रछवि मृगनयनी हो, तुम ही तो स्वर्ग की रंभा हो,
तुम चंद्रछवि मृगनयनी हो, तुम ही तो स्वर्ग की रंभा हो,
SPK Sachin Lodhi
सरस्वती वंदना-3
सरस्वती वंदना-3
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हर तूफ़ान के बाद खुद को समेट कर सजाया है
हर तूफ़ान के बाद खुद को समेट कर सजाया है
Pramila sultan
"आरजू"
Dr. Kishan tandon kranti
तेवरी आन्दोलन की साहित्यिक यात्रा *अनिल अनल
तेवरी आन्दोलन की साहित्यिक यात्रा *अनिल अनल
कवि रमेशराज
हिन्दी
हिन्दी
लक्ष्मी सिंह
वो मेरे बिन बताए सब सुन लेती
वो मेरे बिन बताए सब सुन लेती
Keshav kishor Kumar
मुस्कुराए खिल रहे हैं फूल जब।
मुस्कुराए खिल रहे हैं फूल जब।
surenderpal vaidya
क्या कहे हम तुमको
क्या कहे हम तुमको
gurudeenverma198
अपना घर
अपना घर
ओंकार मिश्र
तेरा मेरा वो मिलन अब है कहानी की तरह।
तेरा मेरा वो मिलन अब है कहानी की तरह।
सत्य कुमार प्रेमी
मीठी वाणी
मीठी वाणी
Kavita Chouhan
तुम्हारी बेवफाई देखकर अच्छा लगा
तुम्हारी बेवफाई देखकर अच्छा लगा
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
शिव स्तुति
शिव स्तुति
Shivkumar Bilagrami
हिंदी दिवस
हिंदी दिवस
Akash Yadav
"योगी-योगी"
*Author प्रणय प्रभात*
खोखली बातें
खोखली बातें
Dr. Narendra Valmiki
इश्क़ और इंकलाब
इश्क़ और इंकलाब
Shekhar Chandra Mitra
काश अभी बच्चा होता
काश अभी बच्चा होता
साहिल
बदलते रिश्ते
बदलते रिश्ते
Sanjay ' शून्य'
मोहब्बत का वो तोहफ़ा मैंने संभाल कर रखा है
मोहब्बत का वो तोहफ़ा मैंने संभाल कर रखा है
Rekha khichi
*परिचय*
*परिचय*
Pratibha Pandey
खुद पर यकीन,
खुद पर यकीन,
manjula chauhan
” सबको गीत सुनाना है “
” सबको गीत सुनाना है “
DrLakshman Jha Parimal
चली ⛈️सावन की डोर➰
चली ⛈️सावन की डोर➰
डॉ० रोहित कौशिक
संगीत का महत्व
संगीत का महत्व
Neeraj Agarwal
Loading...