Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Mar 2024 · 1 min read

वो ही तो यहाँ बदनाम प्यार को करते हैं

वो ही तो यहाँ, बदनाम प्यार को करते हैं।
समझकर जिनको सज्जन, हम प्यार करते हैं।।
वो ही तो यहाँ —————————-।।

करते हैं वो जुदा दिलों को, धर्म के नाम पर।
करते हैं वो सितम दिलों पर, शर्म के नाम पर।।
वो ही तो सरहद, मोहब्बत में खींचा करते हैं।
वो ही तो यहाँ —————————।।

पसन्द नहीं है उनको, अफ़साना दिल के प्यार का।
तोड़कर रस्मो- रिवाज को, बसाना घर प्यार का।
प्रेमियों के खूं से वो, उपदेश अपना लिखते हैं।
वो ही तो यहाँ —————————-।।

चाहते नहीं मिटाना वो, दूरियाँ भेदभाव की।
जलती हुई बुझाना, अग्नि यहाँ अलगाव की।।
वो ही तो फिर प्यार को, भगवान यहाँ कहते हैं।
वो ही तो यहाँ ————————–।।

शिक्षक एवं साहित्यकार
गुरुदीन वर्मा उर्फ़ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
94 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
रामभक्त संकटमोचक जय हनुमान जय हनुमान
रामभक्त संकटमोचक जय हनुमान जय हनुमान
gurudeenverma198
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
पीर मिथ्या नहीं सत्य है यह कथा,
पीर मिथ्या नहीं सत्य है यह कथा,
संजीव शुक्ल 'सचिन'
*।। मित्रता और सुदामा की दरिद्रता।।*
*।। मित्रता और सुदामा की दरिद्रता।।*
Radhakishan R. Mundhra
"काफ़ी अकेला हूं" से "अकेले ही काफ़ी हूं" तक का सफ़र
ओसमणी साहू 'ओश'
************ कृष्ण -लीला ***********
************ कृष्ण -लीला ***********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
आशिकी
आशिकी
साहिल
जनक देश है महान
जनक देश है महान
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सातो जनम के काम सात दिन के नाम हैं।
सातो जनम के काम सात दिन के नाम हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
करूँ प्रकट आभार।
करूँ प्रकट आभार।
Anil Mishra Prahari
अनमोल वचन
अनमोल वचन
Jitendra Chhonkar
बुराइयां हैं बहुत आदमी के साथ
बुराइयां हैं बहुत आदमी के साथ
Shivkumar Bilagrami
मा शारदा
मा शारदा
भरत कुमार सोलंकी
कोई आरज़ू नहीं थी
कोई आरज़ू नहीं थी
Dr fauzia Naseem shad
जिस दिन आप कैसी मृत्यु हो तय कर लेते है उसी दिन आपका जीवन और
जिस दिन आप कैसी मृत्यु हो तय कर लेते है उसी दिन आपका जीवन और
Sanjay ' शून्य'
कि दे दो हमें मोदी जी
कि दे दो हमें मोदी जी
Jatashankar Prajapati
Growth requires vulnerability.
Growth requires vulnerability.
पूर्वार्थ
क्यों और कैसे हुई विश्व पर्यावरण दिवस मनाने की शुरुआत। क्या है 2023 का थीम ?
क्यों और कैसे हुई विश्व पर्यावरण दिवस मनाने की शुरुआत। क्या है 2023 का थीम ?
Shakil Alam
जिससे एक मर्तबा प्रेम हो जाए
जिससे एक मर्तबा प्रेम हो जाए
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
शादी ..... एक सोच
शादी ..... एक सोच
Neeraj Agarwal
कविता: जर्जर विद्यालय भवन की पीड़ा
कविता: जर्जर विद्यालय भवन की पीड़ा
Rajesh Kumar Arjun
Ajj fir ek bar tum mera yuhi intazar karna,
Ajj fir ek bar tum mera yuhi intazar karna,
Sakshi Tripathi
अगर पुरुष नारी में अपनी प्रेमिका न ढूंढे और उसके शरीर की चाह
अगर पुरुष नारी में अपनी प्रेमिका न ढूंढे और उसके शरीर की चाह
Ranjeet kumar patre
मैं बनना चाहता हूँ तुम्हारा प्रेमी,
मैं बनना चाहता हूँ तुम्हारा प्रेमी,
Dr. Man Mohan Krishna
विश्वास
विश्वास
Paras Nath Jha
*देश भक्ति देश प्रेम*
*देश भक्ति देश प्रेम*
Harminder Kaur
3472🌷 *पूर्णिका* 🌷
3472🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
बरसात
बरसात
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
वो इश्क़ अपना छुपा रहा था
वो इश्क़ अपना छुपा रहा था
Monika Arora
श्री गणेश स्तुति (भक्ति गीत)
श्री गणेश स्तुति (भक्ति गीत)
Ravi Prakash
Loading...