Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

वो राह बतलाना नहीं

वो राह बतलाना नहीं
जिस पर हमें जाना नहीं

कह बोझ बेटी को यहाँ
देना कभी ताना नहीं

सच को छिपाने के लिए
झूठी कसम खाना नहीं

मर जाएंगे तेरे बिना
तुम रूठ कर जाना नहीं

खोना भी पड़ता है यहाँ
बस ज़िन्दगी पाना नहीं

हैं कम नहीं गम ‘अर्चना’
आता हमें गाना नहीं

डॉ अर्चना गुप्ता

4 Comments · 207 Views
You may also like:
बेचने वाले
shabina. Naaz
हो मन में लगन
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता का पता
Abhishek Pandey Abhi
अग्निवीर
पाण्डेय चिदानन्द
शब्दों को गुनगुनाने दें
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
महका हम करेंगें।
Taj Mohammad
"शुभ श्रीकृष्ण जन्माष्टमी" प्यारे कन्हैया बंशी बजइया
Mahesh Tiwari 'Ayen'
कुछ बातें
Harshvardhan "आवारा"
चंद दोहे....
डॉ.सीमा अग्रवाल
बाल कविता दुश्मन को कभी मित्र न मानो
Ram Krishan Rastogi
जिसमें हो इंसानियत
Dr fauzia Naseem shad
एक टीस रह गई मन में
Shekhar Chandra Mitra
आज फिर मैं
gurudeenverma198
*षष्ठिपूर्ति (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
JHIJHIYA DANCE IS A FOLK DANCE OF YADAV COMMUNITY
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
अर्थहीन
Shyam Sundar Subramanian
✍️तमाशा✍️
'अशांत' शेखर
💐प्रेम की राह पर-33💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अटल विश्वास दो
Saraswati Bajpai
रेत पर नाम लिख मैं इरादों को सहला आयी।
Manisha Manjari
" की बोर्ड "
Dr Meenu Poonia
सियासी चालें गहरी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
अशांत मन
Mahender Singh Hans
Writing Challenge- प्रकाश (Light)
Sahityapedia
देव प्रबोधिनी एकादशी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
फास्ट फूड
Utsav Kumar Aarya
मौसम
Surya Barman
संडे की व्यथा
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
हंसगति छंद , विधान और विधाएं
Subhash Singhai
नैतिकता और सेक्स संतुष्टि का रिलेशनशिप क्या है ?
Deepak Kohli
Loading...