Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Sep 2023 · 1 min read

वो नौजवान राष्ट्रधर्म के लिए अड़ा रहा !

वो नौजवान राष्ट्रधर्म के लिए अड़ा रहा !
खूँखार सिंह के समान जोश से खड़ा रहा !!
उसको न सेज प्रिय रही न याचना पसंद थी !
फौलाद के समान वो स्वभाव से कड़ा रहा !!

महान क्रांतिकारी अमर शहीद भगत सिंह की जन्म जयंती पर शत्-शत् नमन

-जगदीश शर्मा

1 Like · 285 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
त्योहार
त्योहार
Dr. Pradeep Kumar Sharma
त्यागकर अपने भ्रम ये सारे
त्यागकर अपने भ्रम ये सारे
Er. Sanjay Shrivastava
नटखट-चुलबुल चिड़िया।
नटखट-चुलबुल चिड़िया।
Vedha Singh
महिलाएं अक्सर हर पल अपने सौंदर्यता ,कपड़े एवम् अपने द्वारा क
महिलाएं अक्सर हर पल अपने सौंदर्यता ,कपड़े एवम् अपने द्वारा क
Rj Anand Prajapati
भूमि भव्य यह भारत है!
भूमि भव्य यह भारत है!
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
एक मेरे सिवा तुम सबका ज़िक्र करती हो,मुझे
एक मेरे सिवा तुम सबका ज़िक्र करती हो,मुझे
Keshav kishor Kumar
संयम
संयम
RAKESH RAKESH
Pollution & Mental Health
Pollution & Mental Health
Tushar Jagawat
जीवन देने के दांत / MUSAFIR BAITHA
जीवन देने के दांत / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
सुन्दरता।
सुन्दरता।
Anil Mishra Prahari
खो कर खुद को,
खो कर खुद को,
Pramila sultan
ढलती उम्र का जिक्र करते हैं
ढलती उम्र का जिक्र करते हैं
Harminder Kaur
2604.पूर्णिका
2604.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
जिंदगी
जिंदगी
विजय कुमार अग्रवाल
न जाने क्यों अक्सर चमकीले रैपर्स सी हुआ करती है ज़िन्दगी, मोइ
न जाने क्यों अक्सर चमकीले रैपर्स सी हुआ करती है ज़िन्दगी, मोइ
पूर्वार्थ
*नेता जी के घर मिले, नोटों के अंबार (कुंडलिया)*
*नेता जी के घर मिले, नोटों के अंबार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
दोहा- अभियान
दोहा- अभियान
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"सिलसिला"
Dr. Kishan tandon kranti
जब तक लहू बहे रग- रग में
जब तक लहू बहे रग- रग में
शायर देव मेहरानियां
नारी
नारी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
Tumhari khahish khuch iss kadar thi ki sajish na samajh paya
Tumhari khahish khuch iss kadar thi ki sajish na samajh paya
Sakshi Tripathi
यात्राएं करो और किसी को मत बताओ
यात्राएं करो और किसी को मत बताओ
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
रेणुका और जमदग्नि घर,
रेणुका और जमदग्नि घर,
Satish Srijan
गरूर मंजिलों का जब खट्टा पड़ गया
गरूर मंजिलों का जब खट्टा पड़ गया
कवि दीपक बवेजा
एक ऐसा दृश्य जो दिल को दर्द से भर दे और आंखों को आंसुओं से।
एक ऐसा दृश्य जो दिल को दर्द से भर दे और आंखों को आंसुओं से।
Rekha khichi
आयेगी मौत जब
आयेगी मौत जब
Dr fauzia Naseem shad
Jo Apna Nahin 💔💔
Jo Apna Nahin 💔💔
Yash mehra
“मंच पर निस्तब्धता,
“मंच पर निस्तब्धता,
*Author प्रणय प्रभात*
बड़े दिलवाले
बड़े दिलवाले
Sanjay ' शून्य'
Loading...