Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Nov 2023 · 1 min read

*वो जो दिल के पास है*

वो जो दिल के पास है
*******************

वो जो दिल के पास है,
मन मे रहते बन खास हैं।

मज़बूरी में बे’शक घिरे,
फिर भी उन के दास है।

जी भर कर हैँ देखते,
बुझती मन की प्यास है।

जीत कर भी हैँ हारते
जीवन तो जैसे ताश है।

खींचा – तीनी में मर रहे,
अरमानों का हो नाश है।

खुशियाँ तो कोसों दूर हैँ,
ग़म की गठरी ही रास है।

किस्तों में ही मिल सही,
वो मिलना जैसे चांस है।

मनसीरत नैनों में नमी,
मुश्किल में मेरे सांस हैं।
******************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेड़ी राओ वाली (कैथल)

126 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
उन से कहना था
उन से कहना था
हिमांशु Kulshrestha
चर्चित हो जाऊँ
चर्चित हो जाऊँ
संजय कुमार संजू
भीष्म देव के मनोभाव शरशैय्या पर
भीष्म देव के मनोभाव शरशैय्या पर
Pooja Singh
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
पहाड़ी भाषा काव्य ( संग्रह )
पहाड़ी भाषा काव्य ( संग्रह )
श्याम सिंह बिष्ट
मौत
मौत
नन्दलाल सुथार "राही"
"वक्त के पाँव में"
Dr. Kishan tandon kranti
कल रहूॅं-ना रहूॅं..
कल रहूॅं-ना रहूॅं..
पंकज कुमार कर्ण
....प्यार की सुवास....
....प्यार की सुवास....
Awadhesh Kumar Singh
भीष्म के उत्तरायण
भीष्म के उत्तरायण
Shaily
हम वर्षों तक निःशब्द ,संवेदनरहित और अकर्मण्यता के चादर को ओढ़
हम वर्षों तक निःशब्द ,संवेदनरहित और अकर्मण्यता के चादर को ओढ़
DrLakshman Jha Parimal
*बाल गीत (मेरा प्यारा मीत )*
*बाल गीत (मेरा प्यारा मीत )*
Rituraj shivem verma
शब्दों में समाहित है
शब्दों में समाहित है
Dr fauzia Naseem shad
कैसा क़हर है क़ुदरत
कैसा क़हर है क़ुदरत
Atul "Krishn"
दो शे'र ( अशआर)
दो शे'र ( अशआर)
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
मैं बेटी हूँ
मैं बेटी हूँ
लक्ष्मी सिंह
मोहब्बत और मयकशी में
मोहब्बत और मयकशी में
शेखर सिंह
भ्रम
भ्रम
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
बेटी उड़ान पर बाप ढलान पर👰👸🙋👭🕊️🕊️
बेटी उड़ान पर बाप ढलान पर👰👸🙋👭🕊️🕊️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
माँ से बढ़कर नहीं है कोई
माँ से बढ़कर नहीं है कोई
जगदीश लववंशी
संसाधन का दोहन
संसाधन का दोहन
Buddha Prakash
वोटर की लाटरी (हास्य कुंडलिया)
वोटर की लाटरी (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
#drarunkumarshastriblogger
#drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मकड़जाल से धर्म के,
मकड़जाल से धर्म के,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हाँ मैं किन्नर हूँ…
हाँ मैं किन्नर हूँ…
Anand Kumar
. inRaaton Ko Bhi Gajab Ka Pyar Ho Gaya Hai Mujhse
. inRaaton Ko Bhi Gajab Ka Pyar Ho Gaya Hai Mujhse
Ankita Patel
मैं घाट तू धारा…
मैं घाट तू धारा…
Rekha Drolia
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित , व छंद से सृजित विधाएं
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित , व छंद से सृजित विधाएं
Subhash Singhai
कुत्तों की बारात (हास्य व्यंग)
कुत्तों की बारात (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
ये 'लोग' हैं!
ये 'लोग' हैं!
Srishty Bansal
Loading...